INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता निकली कोरोना पॉजिटिव

नई दिल्ली - पड़ोस की किशोरी से नाबालिग ने अपने रिश्तेदार के साथ मिलकर सामूहिक दुष्कर्म को अंजाम दिया। घटना की शिकायत पर पुलिस ने आरोपितों को दबोच लिया, लेकिन किशोरी की मेडिकल जांच रिपोर्ट आई तो वह कोरोना पॉजिटिव निकली। इससे पूरी जांच टीम के होश उड़े हुए हैं।

वहीं, अब मजिस्ट्रेट व उनके रीडर सहित जांच टीम में शामिल पुलिस कर्मियों को भी होम क्वारंटाइन किया गया है। इसके अलावा जेल प्रशासन और बाल सुधार गृह को भी उन सभी का टेस्ट कराने को कहा गया है, जो आरोपितों के संपर्क में आए हैं।

मध्य जिला पुलिस के मुताबिक, 16 वर्षीय किशोरी नबी करीम में अपने परिवार के साथ किराये पर रहती है और पास के सरकारी स्कूल में नौवीं कक्षा में पढ़ती है।

आरोप है कि उसकी बिल्डिंग में रहने वाले दूसरे समुदाय के किशोर ने उसे बहाने से घर बुलाया और फिर दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया। इसके बाद उसका रिश्तेदार समीमुल्लाह भी पहुंच गया और उसने भी दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया।

किशोरी ने घटना की जानकारी परिजन को दी तो उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। इसके बाद नबी करीम थाना पुलिस ने किशोरी का लेडी हॉर्डिंग अस्पताल में किशोरी का मेडिकल कराया, वहीं दोनों आरोपितों को दबोच लिया। इसके बाद किशोर को जूवेनाइल जस्टिस बोर्ड में पेश कर बाल सुधार गृह और बालिग को तीस हजारी कोर्ट में पेश कर तिहाड़ जेल भेज दिया।

शनिवार शाम को किशोरी की जांच रिपोर्ट देख अफसरों को पसीना आ गया। दरअसल
वह कोरोना पॉजिटिव निकली है। पुलिस व जिला प्रशासन ने तुरंत तिहाड़ जेल प्रशासन, बाल सुधार गृह को पत्र लिखकर आरोपितों के संपर्क में आए लोगों का कोरोना टेस्ट कराने के लिए कहा है।

उधर मजिस्ट्रेट व रीडर समेत कार्रवाई में शामिल सभी पुलिसकर्मियों को होम क्वारंटाइन में रहने को कहा गया। किशोरी व आरोपित जिस बिल्डिंग में रहते हैं, उसे सील कर दिया गया और सभी को होम क्वारंटाइन में रहने के निर्देश दिए गए हैं।

कोई टिप्पणी नहीं