INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

सुदीक्षा भाटी की सडक दुर्घटना में हुई खुलासा

रिपोर्ट -   राजकुमार शर्मा  INA NEWS DESK

बुलंदशहर -  थाना औरंगाबाद क्षेत्रान्तर्गत सुदीक्षा भाटी की सडक दुर्घटना में हुई मृत्यु के प्रकरण का सफल अनावरण किया गया है। घटना

में संलिप्त दोनों अभियुक्त गिरफ्तार एवं घटना में प्रयुक्त बुलेट मोटर साईकिल/व्हील, नम्बर प्लेट, साइलेंसर, हैलमेट, बैगपैक, इण्डीकेटर, सफेद झोला बरामद किया है।


दिनांक 11.08.2020 को जितेंद्र भाटी पुत्र ब्रहमसिंह भाटी निवासी गांव डेरी स्केनर थाना बादलपुर जनपद गौतमबुद्धनगर द्वारा थाना औरंगाबाद पर एक लिखित तहरीर दी गयी जिसमें अंकित कराया कि सेवा में श्रीमान थाना प्रभारी औरंगाबाद महोदय निवेदन यह है कि मैं जितेंद्र भाटी पुत्र ब्रहमसिंह भाटी निवासी गांव डेरी स्केनर थाना बादलपुर जनपद गौतमबुद्धनगर का निवासी हूं। दिनांक 10.08.2020 को मेरी बेटी सुदीक्षा भाटी मेरे भाई सतेंद्र भाटी व भतीजे निगम भाटी के साथ घर से समय करीब सुबह 08 बजे अपने मामा के गांव मिलने के लिए निकले थे कि समय करीब 09ः30 बजे जब गांव चिरौरा स्याना रोड बुलंदशहर थाना औरंगाबाद क्षेत्र में पहुंचे तो एक बुलेट मोटरसाइकिल रंग काला जिसकी नंबर प्लेट पर ‘जाट’ लिखा हुआ था उस पर दो लड़के सवार थे, 1-2 बार बाइक के आगे-पीछे ओवरटेक किया और लापरवाही से जानबूझकर उनकी बाइक के आगे ब्रेक लगा दिये, जिससे उनकी स्पलैण्डर मोटर साइकिल जिसका नंबर यूपी-13ईएच-2633 जिसे मेरा भाई सतेन्द्र चला रहा था, उसने भी ब्रेक लगा दिए जिस कारण बाइक का संतुलन बिगड़ गया और मेरी बेटी सुदीक्षा भाटी सड़क पर गिर गई और उसके सिर में गंभीर चोट लगने के कारण जनता की मदद से अस्पताल ले जाया गया जहां पर चिकित्सक द्वारा उसे मृत घोषित कर दिया। उक्त घटना के संबंध में मृतका के पिता की तहरीर के आधार पर थाना औरंगाबाद पर मुअसं-372/20 धारा 279,304ए भादवि व धारा 177,184,192 एमवी एक्ट बनाम बुलेट मोटर साइकिल सवार दो अज्ञात अभियुक्तों के विरुद्ध पंजीकृत कराया गया।

उक्त चर्चित प्रकरण की संवेदनशीलता को देखते हुए निष्पक्षतापूर्वक जांच एवं शीघ्र अनावरण करने हेतु वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बुलन्दशहर संतोष कुमार सिंह द्वारा अपर पुलिस अधीक्षक नगर अतुल कुमार श्रीवास्तव के निकट पर्यवेक्षण में क्षेत्राधिकारी नगर श्रीमती दीक्षा सिंह की अध्यक्षता में 04 सदस्यीय एसआईटी का गठन किया गया था। साथ ही सर्विलांस सहित 05 टीमें भी लगायी गयी थी।

प्रथम सूचना रिपोर्ट में मृतका के चाचा सतेन्द्र भाटी द्वारा मोटर साईकिल चलाना अंकित किया गया था। सतेन्द्र भाटी पुत्र ब्रहम सिंह भाटी जिसे एफआईआर में मोटर साईकिल चालक के रूप में दर्शाया गया था, के मोबाइल नंबर-8287266686 की सीडीआर के विश्लेषण से निम्न तथ्य प्रकाश में आए-

  • सतेन्द्र भाटी का उक्त मो0नं0 दिनांक 10.08.20 समय प्रातः 9ः17 बजे अपने घर के टावर दादरी में ही मौजूद था।
  • 2 समय 09ः21 बजे धूम मानिकपुर होते हुए समय 09ः54 पर सिकन्द्राबाद इंडस्ट्रियल एरिया पहुंचा।
  • समय 10ः13 बजे भूड चैराहा होते हुए 10ः49 बजे औरंगाबाद घटनास्थल के टावर में पहुंचा।
  • तत्पश्चात समय 10ः53 बजे औरंगाबाद से वापस बुलंदशहर की तरफ चला गया।

एफआईआर में ‘‘बुलेट मोटर साईकिल को एक-दो बार बाइक के आगे पीछे करना’’ दर्शाया गया इससे यह स्पष्ट नही है कि मोटर साईकिल आगे पीछे होना छेड़खानी के सन्दर्भ में था या सहज यात्रा के सन्दर्भ में था। बाइक को आगे पीछे करने से एफआईआर में अंकित शब्दावली ‘‘उस पर दो लड़के सवार थे एक दो बार बाइक के आगे-पीछे ओवरटेक किया और लापरवाही से जानबूझकर बाइक के आगे ब्रेक लगा दिया’’। उक्त वाक्य से कहीं भी छेड़खानी का प्रकटन नही होता है। अतैव विधिक रूप से छेड़खानी की धारा लगाया जाना विधि सम्मत नही था।

 जनपद में आरटीओ कार्यालय से 10,719 बुलट मोटर साईकिल का विवरण प्राप्त किया गया। घटनास्थल के आस-पास से कोतवाली देहात, औरंगाबाद, खानपुर, जहांगीरबाद, नरसैना, स्याना, अगौता के रहने वाले व्यक्तियों के नाम पंजीकृत मोटर साईकिल के विषय में गहराई से जांच करायी गयी। बुलेट मोटर साईकिल चालकों के मोबाईल नम्बरों की सीडीआर प्राप्त की गयी तथा उनका सीडीआर का विश्लेषण किया गया, किन्तु उक्त कालखण्ड (08.30 से 09.00) में किसी का भी लोकेशन उक्त मार्ग पर नही पाया गया।

तत्पश्चात इस निमित योजित अलग-अलग टीमों द्वारा घटनास्थल के बीच सिकन्द्राबाद टोल प्लाजा से लेकर घटनास्थल के बीच कुल 12 महत्वपूर्ण सीसीटीवी कैमरा जो उस मार्ग पर थे जहां से सड़क दृश्यगम्य थी, के सीसीटीवी कैमरा में उपलब्ध फुटेज का विश्लेषण किया गया। भूड़ चैराहा को कोतवाली देहात पर स्थित प्लूटो हाॅस्पिटल पर 08.25 पर मृतका कु0 सुदीक्षा भाटी मोटर साईकिल से अपने चचेरे भाई निगम भाटी के साथ जाती हुई दिखी।

ऽ इसी सीसीटीवी कैमरा में इसके 08 मिनट पूर्व 08.17 पर एक बुलट मोटर साईकिल सवार अकेला जाता हुआ दिखाई पडा, किन्तु वहां से लगभग 150 मीटर दूर स्थित मौ0 आरिफ हाॅस्पिटल पर व 08.22 पर एक अन्य व्यक्ति के साथ दिखाई पडा, जबकि मौ0 आरिफ हाॅस्पिटल के सामने मृतका कु0 सुदीक्षा भाटी की मोटर साईकिल 08.26 पर गुजरी।

08.17 व 08.22 के बीच में उक्त मोटर साईकिल सवार की लोकेशन ज्ञात करने के लिए बगल की गली में एक मात्र ड़ाकखाने वाली गली में आगे बढ़कर देखा गया तो कैमरे में अकेला मोटर साईकिल सवार एक अन्य व्यक्ति को बैठाते हुए देखा गया। इसके बाद पुनः कालाआम चैराहा स्थित एचपी पेट्रोल पम्प पर लगे सीसीटीवी कैमरा को देखने पर ज्ञात हुआ कि बुलट सवार जिसमें पीछे बुजुर्ग व्यक्ति बैठा था, पेट्रोल पम्प पर 03 मिनट (08.26 से 08.29) रूका और पेट्रोल भरवाया। ठीक 02 मिनट बाद 08.30 पर मृतका कु0 सुदीक्षा भाटी व निगम भाटी की मोटर साईकिल आगे बढ़ी।इस प्रकार प्लूटो हाॅस्पिटल के कैमरे में दोनों मोटर साईकिलों के बीच 08 मिनट का अन्तर था। मौ0 आरिफ कमाल हाॅस्पिटल में दोनों मोटर साईकिलों के बीच में 04 मिनट का अन्तर था व एचपी पेट्रोल से चलते समय एक मिनट का अन्तराल दोनों मोटर साईकिलों के बीच में था।

 इस समय आगे-पीछे इस तरह की कोई भी मोटर साईकिल नही निकली। पुुनः मोतीबाग स्थित सीसीटीवी कैमरे में बुलट सवार 08.30 पर देखा गया व मृतका कु0 सुदीक्षा भाटी की मोटर साईकिल 08.31 पर गुजरती दिखाई पडी।

स्याना अड्डा तिराहे पर स्थित जूते की दुकान पर लगे सीसीटीवी कैमरे मे बुलट सवार 08.35 पर व मृतका कु0 सुदीक्षा भाटी की मोटर साईकिल 08.36 पर गुजरती दिखाई पडी। इस प्रकार यहां पर दोनों मोटर साईकिल की बीच में 01 मिनट का अन्तराल था। इससे स्पष्ट है कि दोनों मोटर साईकिल एक मिनट की दूरी पर एक चाल से ही चल रही थी।

 स्याना अड्डे से लगभग 500 मीटर आगे एमपी ट्रांसपोर्ट पर लगे सीसीटीवी कैमरे में भी एक मिनट के अन्तराल पर बुलट सवार समय 08.35.55 आगे और मृतका कु0 सुदीक्षा भाटी की मोटर साईकिल समय 08.36.50 पर गुजरी तथा अगले सीसीटीवी कैमरा जो पंकज की परचून की दुकार पर है, में बुलट सवार 08.36 पर व मृतका कु0 सुदीक्षा भाटी की मोटर साईकिल 08.37 पर गुजरती दिखाई पडी।

 इमलिया गांव पर स्थित कबाड़ी की दुकान पर लगे सीसीटीवी कैमरा में जो पिछले सीसीटीवी कैमरा से 1.5 किमी0 दूरी पर है। बुलट सवार 08.39.10 पर गुजरी और मृतका कु0 सुदीक्षा भाटी की मोटर साईकिल 08.39.30 पर गुजरी। दोनों के बीच 20 सेकेण्ड का अन्तराल रहा।

इससे आगे इमलिया व घटनास्थल के बीच रोडी बदरपुर दुकान पर जहां मृतका कु0 सुदीक्षा भाटी के भाई निगम भाटी द्वारा हाथ से इशारा करने वाली बात बतायी गयी वहां पर बुलट सवार आगे था क्योंकि बुलट सवार को हाथ हिलाते हुए देखना तभी सम्भव था जब बुलट सवार मृतका कु0 सुदीक्षा भाटी की मोटरसाईकिल के आगे चल रहा था। इसके साथ ही घटनास्थल से भी स्पष्ट है कि बुलट सवार आगे था जिसकी बुलट में मृतका कु0 सुदीक्षा भाटी की मोटर साईकिल की टक्कर लगने के कारण एक्सीडेंट हुआ।

स्याना अड्डा से घटनास्थल की दूरी 10.5 किमी0 है। घटना का समय 08.44 से 08.45 की बीच रहा क्योंकि बुलट सवार 08.47 पर कुमार फीलिंग स्टेशन पर जाता हुआ दिखाई दिया जो घटनास्थल से 1300 मीटर की दूरी पर है। इससे स्पष्ट है कि 08.45 के आस-पास घटना हुई है।

09 मिनट में दोनों के द्वारा 10.5 किमी0 की दूरी तय की गयी। इससे स्पष्ट है कि दोनो मोटर साईकलों की गति 80 किमी0 प्रति घण्टा के लगभग निश्चित रही होगी। तभी यह दूरी इनके द्वारा भीड़भाड़ वाली सड़क पर इतने समय में तय की गयी।

उक्त सीसीटीवी कैमरा से प्राप्त के फुटेज के विश्लेषण से ज्ञात हुआ कि इसी बुलट मोटर साईकिल सवार के द्वारा दुर्घटना हुई क्योंकि उसके आगे-पीछे कोई भी बुलट नही पायी गयी।

विभिन्न सीसीटीवी फुटेज से प्राप्त बुलट सवार की पहचान जनपद की 10 टीमों द्वारा 1000 से अधिक व्यक्तियों द्वारा कराने के प्रयास के क्रम में यह जानकारी प्राप्त हुई कि गाड़ी चला रहा बुलट सवार चैधरी दीपक सौलंकी पुत्र कुंवरपाल सिंह है तथा पीछे बैठा व्यक्ति राजू पुत्र लल्लू है।

 चैधरी दीपक सौलंकी को तलाश कर गिरफ्तार किया गया। पूछताछ पर स्वीकारोक्ति में उसने बताया कि उसकी बुलट मोटर साईकल में दिनांक 10.08.20 को पीछे से टक्कर लगी जिससे की पीछे मोटर साईकिल सवार गिर पडे और पीछे बैठी लडकी गिर पडी। बुलट सवार अभियुक्त द्वारा स्वीकार किया गया कि उसकी बुलट के आगे एकाएक एक टैम्पू रूका। टैम्पू द्वारा ब्रेक लिया गया इससे उन्हें अपने बुलट मोटर साईकिल इमरजेंसी ब्रेक लगाना पडा। टैम्पू के आगे बुग्गी थी जिस वजह से टैम्पू को ब्रेक लगाना पडा। सामने से वाहनों का आवगमन हो रहा था। इस संबंध में अभियुक्त के बयान के उपरान्त बुग्गी वाले की तलाश की गयी। अन्ततः बुग्गी चालक कमल सिंह पुत्र शीशराम सिंह निवासी ग्राम नगला करन थाना औरंगाबाद बुलन्दशहर को चिन्हित किया गया जिसने पूछताछ में बताया कि घटना वाले दिन वह अपनी पत्नी सरोज के साथ गेहूं बेचने के लिए अपने बुग्गी से मनोज आढती के पास औरंगाबाद जा रहा था। जैसे ही वह चरौरा गांव के गेट से थोडा आगे निकले तभी पीछे दो मोटर साईकल का एक्सीडेंट हो गया था तभी एक हरे रंग का टैम्पो भी वहां से गुजरा। दुर्घटना के उपरान्त उसने बुग्गी रोकी और पीछे मुडकर देखा तो मृतका कु0 सुदीक्षा भाटी घायल अवस्था में थी और बुलट सवार आगे निकल गये थे। इसके बाद बुग्गी चालक व उसकी पत्नी भी वहां से आगे चले गये थे।

इसके बाद एक अन्य चश्मदीद हेमन्त शर्मा जो पहले दिन से ही स्वयं को घटना का चश्मदीद बता रहा था, ने घटना के संबंध में बताया कि वह दिनांक 10.08.2020 को अपने मोटर साईकिल से औरंगाबाद से बुलन्दशहर की तरफ जा रहा था। जिस समय यह घटना हुई वह भावसी बम्बे की पुलिया से करीब 25-30 मीटर पहले औरंगाबाद की तरफ में था। उसने देखा कि सामने से एक बुग्गी और उसके पीछे एक टैम्पों तथा टैम्पो के पीछे एक बुलट व एक मोटर साईकिल तेजी से आ रही है। टैम्पों के अचानक रूकने के कारण बुलट सवार ने इमरजेंसी ब्रेक लिया जिससे उनके पीछे आ रही मृतका कु0 सुदीक्षा भाटी की मोटर साईकिल ने बुलट में पीछे से टक्कर मारी जिससे मृतका कु0 सुदीक्षा भाटी नीचे सडक पर गिर गयी उसके बाद उसका भाई निगम भाटी और बाइक भी नीचे गिर गए। उसके तुरन्त बाद बुलट सवार वहां से तेजी से निकल गए। हेमन्त शर्मा द्वारा अपने फोन से थानाप्रभारी औरंगाबाद को काॅल कर घटना के विषय मेें बताया। तत्पश्चात निगम भाटी द्वारा हेमन्त शर्मा के फोन से अपने परिजनों को सूचित किया गया।

अभियुक्त चौधरी दीपक सौलंकी के पास बरामद बुलट के संबंध में देखा गया कि जो बुलट सीसीटीवी कैमरे में थी और जो बरामद हुई, उसका रंग अलग था। बुलट चालक चैधरी दीपक सौलंकी ने बताया कि दुर्घटना के बाद उसने भयवश बुलट मोटर साईकिल को छिपा दिया था तथा अगले दिन दिनांक 12.08.2020 को अपने साथी राजू के साथ बुलट मोटर साईकिल के व्हील, साईलेंसर, नम्बर प्लेट, इण्डीकेटर बदलवा दिए गए थे तथा पूरी बुलट को अलग रंग से लेमिनेट करा दिया गया था जिससे कि पुलिस मोटर साईकिल पहचान न पाये। बुलट सवार दोनों अभियुक्तों द्वारा घटना के समय जो कपडे पहने थे वही कपडे दोनों ने अभी भी पहने है।

अब तक की विवेचना से प्रकरण में निश्चित रूप से सडक दुर्घटना होना ही पाया गया है। छेड़खानी के संबंध में कोई भी साक्ष्य प्राप्त नही हुए है। निष्कर्ष निम्नवत है-

दोनो मोटर साईकिल तेज रफ्तार में चल रही थी सुदीक्षा भाटी की मोटर साईकिल सीसीटीवी कैमरे के आधार पर भूड़ से इमलिया तक पीछे थी। इमलिया व घटनास्थल के बीच कोई भी सीसीटीवी कैमरा उपलब्ध नही है लेकिन बीच में रोडी बदरपुर की दुकान पर जहां बुलट चालक द्वारा हाथ हिलाकर इशारा करना बताया गया वहां पर बुलट सवार आगे थे। बुलट सवार द्वारा अपनी बुलट मृतका कु0 सुदीक्षा भाटी की मोटर साईकिल के आगे पीछे करने का कोई साक्ष्य नही पाया गया।

अभियुक्त चैधरी दीपक सौलंकी को भूड से दिनांक 15.08.2020 को समय करीब 15.45 बजे धारा 279,304ए,201 भादवि व 177,184,192 एमवी एक्ट में गिरफ्तार किया गया तथा अभियुक्त राजू को उसके किराये के मकान से समय करीब 17.35 बजे धारा 304ए,201 भादवि में गिरफ्तार किया गया

गिरफ्तार अभियुक्तों का नाम व पता

1- चैधरी दीपक सौलंकी पुत्र कुंवर सौलंकी निवासी ग्राम कुरली थाना गुलावठी जनपद बुलन्दशहर ।

2- राजू पुत्र लल्लू निवासी शान्तिनगर भूड़ थाना कोतवाली देहात जनपद बुलन्दशहर

बरामदगी-

1- बुलट मोटर साईकिल नं0 यूपी-13बीएफ-6709 जो कि पूरी लेमिनेट करा दी गयी है।

2- बुलट के बदलवाये गये व्हील, नम्बर प्लेट, साईलेंसर, इण्डीकेटर, हेलमेट, काला बैगपैक, सफेद झोला।

घटना का अनावरण करने वाली पुलिस टीम-

सुधीर कुमार त्यागी प्रभारी निरीक्षक थाना कोतवाली देहात

सुभाष सिंह प्रभारी निरीक्षक थाना औरंगाबाद।

नरेन्द्र शर्मा प्रभारी निरीक्षक थाना स्याना

ध्रुव भूषण दूबे प्रभारी निरीक्षक थाना बीबीनगर।

नरेश शर्मा प्रभारी निरीक्षक थाना खानपुर

विवेक शर्मा प्रभारी निरीक्षक थाना जहांगीराबाद

त्रिभुवन सिंह प्रभारी निरीक्षक थाना अगौता

निरीक्षक राजेश कुमार यादव (एसआईटी)

निरीक्षक अनिल कुमार (एसआईटी)

उ0नि0 श्यौपाल सिंह थानाप्रभारी पहासू (एसआईटी)

है0का0 संजय कुमार, का0 नकुल मलिक, का0 कपिल नैन, का0 विदित – सर्विलांस सैल

का0 राजेन्द्र, का0 मनीष शर्मा, का0 चालक सुभाष सिंह, का0 हरेन्द्र कुमार, का0 प्रबलि तोमर, का0 अभिषेक कुमार, का0 संजीव कुमार, का0 पंकज, का0 योगेश कुमार, का0 अमित चैहान शामिल रहे।




कोई टिप्पणी नहीं