INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

कोहली के सामने 'विराट चैलेंज', ऑस्ट्रेलिया टीम में एक बदलाव

सिडनी - ब्रिस्बेन में खेले गए पहले मैच में मिली हार और मेलबर्न में खेले गए दूसरा मैच बारिश के कारण धुल जाने के बाद भारत इस समय ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली जा रही टी-20 सीरीज में 1-0 से पीछे है. भारत के पास सीरीज जीतने का विकल्प बचा नहीं है, लेकिन वह सीरीज हारने से बच सकता है और इसका आखिरी मौका उसे रविवार को होने वाले मैच में मिलेगा. 

दोनों टीमों सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर तीसरे और एक तरह से निर्णायक मैच में भिड़ेंगी. वहीं दूसरे मैच के बारिश के कारण धुल जाने के कारण ऑस्ट्रेलिया को फायदा यह हुआ है कि वह अब सीरीज हारने की स्थिति में नहीं है. मैच का सीधा प्रसारण भारतीय समयानुसार दोपहर 1:20 से आप देख सकते हैं. सीरीज इस मुकाम पर है कि या तो ऑस्ट्रेलिया सीरीज अपने नाम करेगी या सीरीज बराबरी पर खत्म होगी. 

अंतिम टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच के लिए अपने गेंदबाजी आक्रमण को मजबूत करते हुए चोटिल बिली स्टेनलेक की जगह पर मिशेल स्टार्क को टीम में रखा है. स्टेनलेक मेलबर्न में दूसरे मैच से ठीक पहले चोटिल हो गए थे. उनके टखने में चोट लगी है जिसके कारण वह अंतिम मैच में भी नहीं खेल पाएंगे. स्टार्क की करीब दो साल बाद टी-20 टीम में वापसी हुई है.

बीती दो टी-20 सीरीज में मात खाने वाली मेजबान टीम के पास अपनी स्थिति को सुधारने का यह अच्छा मौका है और वह इसे गंवाना नहीं चाहेगी. वहीं भारत भी पूरी कोशिश करेगा कि वह आखिरी मैच जीत सीरीज हार के धब्बे से बच जाए. इस दौरान विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम उम्मीद करेगी की बारिश उसकी राह में रोड़ा न बने. 

पहले दो मैचों में बारिश ने खेल को प्रभावित किया है. पहले मैच में बारिश के कारण ही भारत को विशाल लक्ष्य मिला था तो वहीं दूसरे मैच में सिर्फ पहली पारी ही मुमकिन हो पाई थी और लगातार बारिश होने के कारण मैच रद्द कर दिया गया था। हालांकि रविवार को किसी तरह की बारिश की भविष्यवाणी नहीं है.दूसरे मैच में सिर्फ ऑस्ट्रेलिया ने बल्लेबाजी की थी. 

ऑस्ट्रेलिया ने दूसरे मैच में 19 ओवरों का खेल खेला था और सात विकेट के नुकसान पर 132 रन बनाए थे. इसके बाद खेल संभव नहीं हो सका था. भारत के गेंदबाजों ने इस मैच में जिस तरह से ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को बांधे रखा था वह शानदार था. जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार और खलील अहमद ने बेहतरीन गेंदबाजी की थी तो स्पिन में कुलदीप यादव और क्रुणाल पंड्या ने भी रन नहीं दिए थे. 

इस लिहाज से भारतीय टीम प्रबंधन अपनी गेंदबाजी से तो खुश होगा. टीम में बदलाव की उम्मीद कम है क्योंकि मेहमान टीम की मौजूदा अंतिम-11 में काफी संतुलन देखा जा सकता है. एक बदलाव अगर कोहली कर सकते हैं तो वह युजवेंद्र चहल को अंदर लाना. कोहली अगर चहल को अंतिम-11 में लाने का मूड बनाते हैं तो वह बाहर किसे बैठाते हैं यह देखना होगा.

कोई टिप्पणी नहीं