INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

हिमाचल : मौलवी का बेटा भी कोरोना पॉजिटिव निकला, कुल केस हुए 31

ऊना - हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले के कुठेड़ा खैरला के मौलवी का बेटा भी कोरोना पॉजिटिव निकला है। प्रदेश में अब कोरोना संक्रमितों की संख्या 31 हो गई है। सात अप्रैैल को ऊना जिले के अंब की कुठेड़ा-खैरला मस्जिद में एक मौलवी की कोविड 19 रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी।
इसके बाद कोरोना पॉजिटिव मौलवी के परिवार को भी आईसोलेट कर खड्ड स्थित अस्पताल भेज दिया गया था। मौलवी के दो बेटों और पत्नी को आइसोलेशन सेंटर भेजा गया था। गांव में करीब 20 लोगों के ब्लड सैंपल लिए गए थे। अब मौलवी के एक बेटे की कोविड 19 रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

इससे पहले शुक्रवार देर रात सोलन जिले के बद्दी स्थित एक निजी अस्पताल के एक लैब टेक्नीशियन और रिसेप्सनिस्ट कोरोना पॉजिटिव मिले थे। दोनों इसी अस्पताल में क्वारंटीन थे। मरीज को यहां से टांडा भेजने की तैयारी की जा रही है। डीसी संदीप कुमार ने कहा कि प्रशासन एहतियात बरत रहा है। संबंधित पंचायत को पहले ही हॉटस्पॉट घोषित कर सील कर दिया गया है।

इन दोनों ने बद्दी स्थित हेलमेट कंपनी के एक निदेशक की पत्नी का इलाज किया था और यहां से पीजीआई रेफर होने के बाद इलाज के दौरान महिला की मौत हो गई थी। बाद में यही महिला कोरोना पॉजिटिव भी निकली थी। निजी अस्पताल को सील करने के बाद क्वारंटीन  केंद्र में बदला गया था।

शुक्रवार को हिमाचल के विभिन्न अस्पतालों से 127 सैंपलों की रिपोर्ट आई थी, जिनमें 125 निगेटिव और दो पॉजिटिव पाए गए थे।बता दें बद्दी में महिला की चपेट में पति को छोड़कर चार लोग आए थे, जो महिला के साथ दिल्ली से आए थे। चारों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उनके परिजनों ने सभी को हिमाचल से गुरुग्राम स्थित मेदांता अस्पताल शिफ्ट कर दिया था।

लेकिन महिला की मौत के बाद निजी अस्पताल को सील कर क्वारंटीन केंद्र में बदला गया। टेक्नीशियन और रिसेप्सनिस्ट को स्टाफ के आठ लोगों के साथ इसी अस्पताल में क्वारंटीन किया गया था। लक्षण मिलने के बाद दोनों की कोरोना जांच की गई और शुक्रवार को उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई थी।

इन दोनों को आईजीएमसी के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है। निजी अस्पताल को पहले सील किया जा चुका है, जबकि अन्य स्टाफ व दोनों के परिवार को भी तत्काल क्वारंंटीन रहने को कह दिया है। अभी तक प्रदेश में 31 कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए हैं, जिनमें से एक की मौत हो चुकी है और दो लोग ठीक होकर अस्पताल से घर जा चुके हैं।

इसके अलावा छह और लोगों की भी रिपोर्ट निगेटिव आ गई है और जल्द ही उन्हें भी घर भेजा जा सकता है। वहीं, चार मरीज प्रदेश से बाहर शिफ्ट हो गए हैं, जबकि मेडिकल कॉलेज नेरचौक में चार, दो टांडा मेडिकल कॉलेज और नौ बद्दी में स्थित ईएसआई अस्पताल में रखे गए हैं। 

कोई टिप्पणी नहीं