INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

कोरोना वायरस कहकर मणिपुरी छात्रा के मुंह पर थूका पान

INA NEWS DELHI : कोरोना वायरस को लेकर राजधानी में अब उत्तर-पूर्व के छात्रों पर हमले और अभद्र टिप्पणियां शुरू हो गई हैं। मुखर्जी नगर इलाके में रविवार रात को स्कूटी सवार एक शख्स ने सारी हदें पार करते हुए मणिपुरी छात्रा को कोरोना वायरस कहकर उसके मुंह पर पान थूक दिया। अंधेरा होने की वजह से पीड़िता उसकी स्कूटी का नंबर नहीं देख पाई। आरोपी इसका फायदा उठाकर वहां से फरार हो गया। 

किसी तरह पीड़िता अपने घर पहुंची और उसने पुलिस को मामले की सूचना दी। सूचना मिलते ही वरिष्ठ पुलिस अधिकारी वहां पहुंचे। पान की पीक छात्रा की आंख में भी चली गई थी जिसकी वजह से उसकी आंख में चोट पहुंची थी। छात्रा को इलाज के लिए बाबू जगजीवन राम अस्पताल ले जाया गया, जहां उसे प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई। उत्तर-पश्चिम जिले की पुलिस उपायुक्त विजयंता आर्य ने बताया कि मामला दर्ज करआरोपी की तलाश की जा रही है। आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज से आरोपी की पहचान के प्रयास किए जा रहे हैं।

पुलिस के मुताबिक मूलरूप से मणिपुर की रहने वाली 25 वर्षीय छात्रा विजय नगर, सिंगल स्टोरी स्थित पीजी में कुछ दोस्तों के साथ रहती है। वह डीयू से पढ़ाई कर रही है। रविवार रात को मार्केट से खरीदारी कर अपने पीजी वापस लौट रही थी। इस बीच जैसे ही छात्रा बच्चा पार्क, सिंगल स्टोरी के पास पहुंची, अचानक स्कूटी सवार करीब 50 साल का शख्स उसके सामने पहुंचा। इससे पहले कि छात्रा कुछ समझ पाती आरोपी ने छात्रा को कोरोना वायरस कहकर उसके मुंह पर पर पान थूक दिया।

छात्रा के मुताबिक घटनास्थल पर काफी अंधेरा था। आरोपी इसका फायदा उठाकर वहां से फरार हो गया। छात्रा पीजी पहुंची और उसने मामले की सूचना पुलिस नियंत्रण कक्ष को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने छात्रा को अस्पताल पहुंचाया। बाद में उसके बयान पर मामला दर्ज कर लिया। छात्रा ने बताया कि स्कूटी सफेद रंग की थी। वह स्कूटी का नंबर नोट नहीं कर सकी। पीड़िता की शिकायत पर पुलिस मामला दर्ज कर आरोपी शख्स की तलाश करने का प्रयास कर रही है।

पुलिस को दी शिकायत में छात्रा ने बयां किया अपना दर्द

अपने साथ हुई वारदात के बाद छात्रा ने पुलिस को लिखित में जो शिकायत दी है, उसमें छात्रा ने अपना दर्द बयां किया है। छात्रा का कहना है कि चीन में जब से कोरोना वायरस फैला है, यहां लोगों ने उनको निशाना बनाकर हमले करने शुरू कर दिए हैं। उन्हें चिंकी, कोरोना वायरस जैसे नामों से पुकारा जाने लगा है। यह सिर्फ उसके साथ ही नहीं हुआ है। बाकी छात्र व छात्राओं पर भी ऐसे ही हमले होते रहे हैं। छात्रा का कहना है कि हम कोरोना वायरस नहीं हैं। अपने ही देश में हमारे साथ ऐसा बर्ताव किया जा रहा है। अपनी दिल्ली में पढ़कर अपना भविष्य बनाने आए हैं। छात्रा ने लिखा कि हम भी भारतीय हैं, हमें अपनी ही धरती पर अलग-थलग क्यों किया जा रहा है। पुलिस ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त से सख्त एक्शन ले।

No comments