INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

उमा भारती के बाद कल्‍याण स‍िंह बोले ओबीसी वाले भी हैं सच्चे रामभक्त

राम मंदिर निर्माण को लेकर बनाए गए ट्र्स्ट पर राजनीतिक बयानों का सिलसिला जारी है।
उमा भारती के बाद अब उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह ने भी ‘श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र’ ट्रस्ट में पिछड़े वर्ग के लोगों को शामिल करने की बात कही है। दरअसल, बुधवार को नरेंद्र मोदी ने राम मंदिर ट्रस्ट के गठन का ऐलान किया। इसके अलावा सीएम योगी ने मस्जिद के लिए पांच एकड़ की जमीन की घोषणा की।
इसके बाद गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर कहा कि मंदिर ट्रस्ट का एक सदस्य दलित समाज से होगा। अमित शाह के इस ट्वीट के बाद कल्याण सिंह ने कहा कि सिर्फ दलित ही नहीं पिछड़े भी रामभक्त होते हैं। उन्हें भी ट्रस्ट में जगह मिलनी चाहिए। कल्याण सिंह  ने पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को इस काम के लिए बधाई दी और कहा कि मेरी इच्छा थी कि मैं अयोध्या में भव्य राम मंदिर देख सकूं। केवल दलित ही राम भक्त नहीं होते बल्कि पिछड़े समाज के लोग भी सच्चे राम भक्त होते हैं। उन्हें भी ट्र्स्ट में जगह मिलनी चाहिए।
संबंधित खबरें
जब ल‍िंच‍िंग पर बोले थे पीएम मोदी- रोज ऐसी घटनाएं होती हैं… तवलीन स‍िंह ने सार्वजन‍िक कीं न‍िजी मुलाकात की बातें
आरक्षण पर शीर्ष अदालत के फैसले पर लोस में हंगामा, केंद्रीय मंत्री गहलोत बोले- सरकार उच्च स्तर पर कर रही विचार
बता दें कि इससे पहले उमा भारती ने कहा था कि सरकार ने ट्रस्ट में किसी राजनेता को शामिल नहीं करने का फैसला किया तो राजनीति से बाहर के कुछ ओबीसी सदस्य को शामिल किया जाना चाहिए था।
गौरतलब है कि  सरकार ने वरिष्ठ वकील के परासरन, जगतगुरु शंकराचार्य, इलाहाबाद से ज्योतिषीपीठाधीश्वर स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती जी महाराज, जगतगुरु माधवाचार्य स्वामी विश्व प्रसन्नाथरेथ जी महाराज, उडुपी में पीजावर मठ, हरिद्वार से युगपुरुष परमानंद महाराज, अयोध्या से विमलेंद्र मोहन प्रताप मिश्र को नामित किया है। बता दें कि अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के 9 नवंबर के फैसले के 88 दिन बाद सरकार ने राम मंदिर बनाने के लिए ट्रस्ट की घोषणा कर दी। इसमें 15 सदस्य होंगे


कोई टिप्पणी नहीं