INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

हिमाचल में सीजन का सबसे बड़ा हिमपात

DESK : हिमाचल में बुधवार को इस सीजन का सबसे बड़ा हिमपात हुआ। तड़के पांच बजे शुरू हुई बर्फबारी देर शाम तक जारी रही। भारी बर्फबारी से सूबे में पांच नेशनल हाईवे समेत 879 सड़कें बंद हो गईं। चंबा जिले की पंचायत सुनारा के गुंआ गांव में बर्फ में फिसलकर खाई में गिरने से एक युवक की मौत हो गई।
युवक मंगलवार शाम को अपने दोस्तों के साथ बर्फबारी का आनंद लेने गांव से कुछ दूर निकल गया। जहां पर पांव फिसलने से वह गहरी खाई में गिर गया, जिससे उसकी मौत हो गई।

वहीं  जनजातीय क्षेत्र पांगी में सुराल पावर हाउस पर हिमखंड गिरने से सुराल समेत आसपास की तीन पंचायतों में बिजली गुल हो गई। 800 से ज्यादा ट्रांसफार्मर खराब होने से प्रदेश के कई क्षेत्रों में बिजली संकट गहरा गया है।

सैकड़ों पेयजल योजनाएं हांफने से पीने के पानी की किल्लत हो गई है। पारा माइनस में होने से जनजीवन जम गया है। कई क्षेत्रों में भूस्खलन से रास्तों में एचआरटीसी की दर्जनों बसें फंस गई हैं।

शिमला शहर सहित प्रदेश के कई क्षेत्रों का संपर्क कट गया

शिमला शहर सहित प्रदेश के कई क्षेत्रों का संपर्क कट गया है। सोलन और रामपुर शहर में भी बुधवार को कई सालों बाद बर्फबारी हुई। शिमला में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर समेत कई मंत्री और अधिकारी पैदल ही सचिवालय पहुंचे।

उधर, प्रदेश के मैदानी क्षेत्रों में तीसरे दिन भी मूसलाधार बारिश का दौर जारी रहा। सड़कें बंद होने से सैकड़ों सैलानी जगह-जगह गाड़ियों में फंस गए हैं। सैंज को जोड़ने वाला लारजी-सैंज-न्यूली मार्ग पागलनाला में बाढ़ आने से 15 घंटे बाद खुला।

जनजातीय जिला लाहौल में बर्फबारी के बाद सड़कें, बिजली, पानी और दूरसंचार सेवाएं ठप हैं। खराब मौसम के चलते लाहौल के लिए चार दिन से शीतकालीन हेलीकाप्टर सेवा भी बंद है। जिला कुल्लू में करीब 400 बिजली ट्रांसफर ठप पड़े हैं। पर्यटन नगरी डलहौजी-खजियार में भी भारी बर्फबारी हुई है। 

कोई टिप्पणी नहीं