INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

हत्यारोपियों को थाने में पनाह देने पर फूटा गुस्सा , पीड़ित परिवार की महिलाओं ने थाने का घेराव कर दिया धरना

प्रयागराज गुरुवार को शंकरगढ़ थाना पुलिस पर पीड़ित परिजनों की महिलाओं का गुस्सा इस कदर फूटा की वह थाने का घेराव करने पर मजबूर हो गई, इस दौरान हुई पुलिसिया व्यवहार के चलते उन्हें थाने पर ही धरना देकर बैठना पड़ा।

मामला एक 20 वर्षीय युवक की हत्या से जुड़ा हुआ है जिसकी मृत्यु  बीते 14 अक्टूबर को संदिग्ध अवस्था में आरोपियों के घर पर ही  हो गई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार युवक की मौत का कारण शरीर में विष का होना बताया गया। पीएम रिपोर्ट के बाद पीड़ित परिवार सहित क्षेत्र में आंखों से घटना को लेकर तरह-तरह की चर्चा है। विश्वसनीय सूत्रों की माने तो घटना का मुख्य कारण था प्रेम प्रपंच था। मृतक के चाचा अशोक शुक्ला स्थानीय थाना क्षेत्र निवासी लाल का पुरवा की तहरीर पर महिला सहित 5 लोगों को आरोपी बनाया गया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार 15 अक्टूबर को केस रजिस्टर्ड कर आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। वही पीड़ित परिवार पुलिस की कार्रवाई से नाराज है आरोप है कि पुलिस ने  आरोपियों  को थाने में पनाह दे रखी है और जेल भेजने की जगह पूरी पनीर से सेवा कर रही है। इसी बात से नाराज महिलाओं ने थाने का घेराव किया, जिसके बाद पुलिस के कुछ लोगो के व्यवहार के चलते उनका गुस्सा फूट गया और वे धरने पर बैठ गईं।

परिजनों की माने तो  नवरात्रि का दिन था,  आरोपियों के घर दुर्गा पूजन का आयोजन था। उनके बुलाने पर 13 अक्टूबर को प्रिपेष शुक्ला (20) पुत्र विजय उनके घर गया था, जिसकी अगले दिन आरोपियों के युवक की संदिग्ध हालात में शव मिला। मृत्यृ की जगह परिजनों को बीमारी की  सूचना मिली। तहरीर के आधार पर पुलिस ने पॉच के विरूद्ध केस दर्ज किया लेकिन कार्यवाही की जगह आवभगत में लगी है। घटना बीते 14 अक्टूबर 2021, थाना शंकरगढ़ प्रयागराज की है। पोस्ट मार्टम में विष से मौत का कारण बताया गया है, बावजूद इसके पुलिस की ढिलाई ने सवालिया निशान खड़े कर दिए है।

घटना के बाद मामला प्रेम प्रपंच का बताया जा रहा है। आरोप है कि प्रेमिका की दीदी और जीजा इस बात को जानते थे। 13 अक्टूबर की रात्रि युवक को पूजन के बहाने घर बुलाया गया और इनके द्वारा खाने में विष देकर मारा डाला गया जिसके कारण मृतक के शरीर के विभिन्न हिस्सों पर नीले रंग के निशान देखे गए। 

पुलिस ने मामले में पांच को अभियुक्त बनाया है। जिनमे सुशील कुमार पांडेय पुत्र गंगा प्रसाद निवासी गुड़िया ताल  उनकी पत्नी रानी देवी ,साला मनु गौतमव साली बेटू गौतम सहित एक अन्य हेमराज केसरवानी (जादूगर) शामिल हैं। पुलिस ने महिला सहित सभी पांच अभियुक्तों के विरुद्ध मु.अ.सं. 0324/2021आईपीसी की धारा 302,34 दर्ज किया है। लेकिन मामले में ठोस कार्यवाही न होने के कारण परिजनों सहित क्षेत्र में आक्रोष है।

No comments

Welome INA NEWS, Whattsup : 9012206374