INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

₹500 के लिए 25 किलोमीटर पैदल चली बुजुर्ग, मायूस लौटी

आज़मगढ़ - बेबसी और मायूसी क्या होती है उस बुजुर्ग महिला को पूछिए, जिसने अपना घर चलाने के लिए 25 किलोमीटर का सफर तय किया लेकिन जब वह बैंक पहुंची तो मालूम पड़ा कि उसके बैंक अकाउंट में पैसे ही नहीं है 

आजमगढ़ के अतरौलिया में रहने वाली 60 वर्षीय नीलम देवी का   आजमगढ़ की भारतीय स्टेट बैंक में सेविंग अकाउंट है 

किसी अराजक तत्वों द्वारा अफवाह फैला दी गई कि मोदी द्वारा सभी के सेविंग अकाउंट में ₹500 डलवाए गए हैं 

नीलम देवी ने जब यह अफवाह सुनी तो उसने इसे सच मान लिया और अतरौलिया से आजमगढ़ के लिए शनिवार सुबह आज पैदल ही चल निकली, जब वह बैंक पहुंची तो उसे मालूम पड़ा कि उसके बैंक अकाउंट में कोई पैसा नहीं है, बैंक पता करने पर मालूम पड़ा कि ऐसी कोई योजना नहीं है कि प्रधानमंत्री मोदी द्वारा सभी के बैंक अकाउंट में ₹500 डलवाए जा रहे हैं, बैंक अकाउंट में पैसे ना होने पर बुजुर्ग महिला काफी हताश हो गई 

बुजुर्ग महिला ने बताया कि वह लोहार है, बुजुर्ग महिला अपने दो बेटियां और एक बेटा के साथ  टूटे-फूटे मकान में रहती है, लॉकडाउन के  बाद से ही उसका काम पूरी तरीके से बंद हो गया, तब से उसके और उसके परिवार के खाने तक के लाले पड़ने लगे है, उसे किसी ने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी ने सभी अकाउंट में ₹500 डलवा दिए हैं, 

बुजुर्ग महिला को लगा कि शायद इससे इसके परिवार का कुछ भला हो जाएगा घर में इतनी भी पैसे नहीं थे कि वह किराए से शहर आ सके, बुजुर्ग महिला ने ₹500 की उम्मीद में शनिवार को आज 25 किलोमीटर का सफर तय कर लिया वह सुबह 4:00 बजे घर से निकली और शाम 3 बजे बैंक पहुँच गई, बैंक जाकर पता लगा कि उसके अकाउंट Neelam Devi, AC - 35282459723, IFSC : SBIN0002612  में मात्र 170 रुपये हैं |

कोई टिप्पणी नहीं