INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

लखनऊ सहित यूपी के 15 जिलों में 25 मार्च तक लॉकडाउन

उदय सिंह यादव, संपादक , INA NEWS

लखनऊ : कोरोना वायरस की चुनौतियों से निपटने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को लखनऊ, गोरखपुर, कानपुर समेत 15 जिलों को लॉकडाउन कर दिया है। ये लॉक डाउन पहले चरण का है जो कि 23 से 25 मार्च तक रहेगा। गोरखपुर में गोरखनाथ मंदिर परिसर में मीडिया से बातचीत में सीएम ने कहा कि पहले चरण में 15 जिलों को लॉकडाउन किया जा रहा है।
इन जिलों की समीक्षा की जाएगी और जरूरत पड़ने पर लॉकडाउन आगे बढ़ाया जाएगा। दूसरे चरण में कुछ और जिलों में भी लॉक डाउन किया जा सकता है। नेपाल से सटे यूपी के जिलों में खास सतर्कता बरती जा रही है।

किसी तरह की गतिविधि नहीं होगी
मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन जिलों में लॉक डाउन हुआ है, वहां किसी तरह की गतिविधि नहीं हो सकेगी। पुलिस, प्रशासनिक अफसर लगातार पेट्रोलिंग करेंगे। वैश्विक महामारी का खतरा अभी टला नहीं है। जरा सी लापरवाही खतरनाक हो सकती है। यूपी में स्थिति नियंत्रण में है। जागरूकता के अभियान भी चलाए जा रहे हैं।

इन जिलों को किया गया लॉक डाउन
प्रदेश के लखनऊ, आगरा, गाजियाबाद, कानपुर, मेरठ, गोरखपुर, नोएडा, मुरादाबाद, प्रयागराज, आजमगढ़, अलीगढ़, बरेली, सहारनपुर, वाराणसी और लखीमपुर को लॉक डाउन घोषित किया है। इस दौरान राज्य परिवहन की बसों का संचालन पूरी तरह बंद कर दिया गया है।

इस संबंध में परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक डॉ राजशेखर ने बताया कि अब निगम की यूपी से राजस्थान, उत्तराखंड, हरियाणा राज्य को चलने वाली साधारण सेवा एवं एसी बसों का संचालन रोक दिया गया है। कोरोना वायरस के बचाव के क्रम में ये कदम उठाया गया है। वहीं, लखनऊ मेट्रो की सेवाएं भी 31 मार्च तक के लिए निलंबित कर दी गई हैं।


बाहर से आने वाले सावधानी बरतें, अफसर निगाह रखें

यूपी के कई जिले ऐसे हैं, जहां मुंबई, सूरत सहित अन्य राज्यों में रहकर कमाने-खाने वाले वापस आए हैं। सबसे अनुरोध है कि वे अपने घरों में खुद को अलग रखें। परिवार या फिर लोगों ने मेलजोल न बढ़ाएं।

जौनपुर, मिर्जापुर, भदोही, कुशीनगर, देवरिया, अयोध्या, झांसी, संतकबीरनगर और गोंडा में ऐसे लोगों की संख्या ज्यादा है। प्रशासनिक अफसरों से कहा गया है कि दूसरे राज्यों से आने वालों पर निगाह रखें। जहां जरूरी हो, वहां क्वारंटीन की व्यवस्था करें। किसी की तबीयत खराब हो तो आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराने की व्यवस्था कराई जाए।

INA NEWS DESK

No comments