INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

दिल्ली की वायु गुणवत्ता गंभीर श्रेणी में, बारिश से मिल सकती है राहत

DESK - दिल्ली में हवा की धीमी गति के कारण रविवार को वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में दर्ज की गई जबकि अधिकारियों ने अगले कुछ दिनों में बारिश का अनुमान जताया है जिससे प्रदूषण का स्तर कम हो सकता है।
केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़े के अनुसार शहर में कुल वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 416 था जो ‘गंभीर’ की श्रेणी में आता है।

100और 200 के बीच एक्यूआई को ‘मध्यम’ श्रेणी में, 201 से 300 के बीच ‘खराब’, 301 और 400 के बीच ‘बेहद खराब’ जबकि 401 और 500 के बीच एक्यूआई ‘गंभीर’ श्रेणी में आता है।

सीपीसीबी ने कहा कि कम से कम 24 इलाकों में वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ और सात इलाकों में यह ‘बेहद खराब’ दर्ज की गई। इसके अनुसार राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर), गाजियाबाद, फरीदाबाद, नोएडा और ग्रेटर नोएडा में वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ दर्ज की गई।

सीपीसीबी के अनुसार दिल्ली में कुल पीएम 2.5 का स्तर (2.5 माइक्रोमीटर से कम व्यास वाले हवा में घुले अति सूक्ष्म कण) 273 था जबकि पीएम10 का स्तर 426 था।

केंद्र संचालित वायु गुणवत्ता एवं मौसम पूर्वानुमान प्रणाली (सफर) ने कहा कि अगले दो दिनों में हल्की बारिश होने का अनुमान है जिससे वायु गुणवत्ता सुधर सकती है।

सफर ने कहा, “अगर बारिश नहीं होती है तो अगले तीन दिनों में छोटे-मोटे उतार-चढ़ाव के साथ कुल वायु गुणवत्ता और खराब हो सकती है। अन्य मौसमी स्थितियां भी अनुकूल नहीं हैं। हालांकि कोहरे की स्थितियों के अब छंटने की संभावना है।’’ 

‘गंभीर' श्रेणी में पहुंचने से पहले शुक्रवार को हवा की गुणवत्ता ‘बेहद खराब' रही। बुधवार और बृहस्पतिवार को वायु गुणवत्ता ‘खराब' श्रेणी में थी।

No comments