INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

चीनी कर्ज में डूबा मालदीव, दिल्ली पहुंचे विदेश मंत्री

दिल्ली - बढ़ते कर्ज से परेशान मालदीव को भारत से सहायता की उम्मीद है। मालदीव को उम्मीद है कि भारत के साथ उसके कुछ लोन समझौते हो सकते हैं। मालदीव के विदेश मंत्री अब्दुल्ला शाहिद चार दिन के भारतीय दौरे पर आए हुए हैं। सोमवार को भारतीय नेताओं से बातचीत से पहले शाहिद ने टाइम्स ऑफ इण्डिया को बताया कि अभी भी उनकी सरकार पिछली यामीन सरकार द्वारा लिए गए विदेशी कर्ज का अध्ययन कर रही है।

विदेशी कर्ज पर जो आंकड़े यामीन सरकार ने दिए हैं वो पर्याप्त नहीं थे इनका चीनी डेटा के साथ मिलान किया जाएगा। मालदीव ने जितना भी कर्ज दूसरे देशों से लिया है उसमें 70 फीसदी उसे चीन को लौटाना है। शाहिद ने आगे कहा कि हम जिन मूलभूत जरूरतों के लेकर हम परेशान हैं उनमें ताजे पानी की कमी और स्वास्थय क्षेत्र हैं। हम आशा करते हैं कि हमारे किसी भी तरह की परेशानी में पड़ने पर भारत उदार रुख अपनाते हुए उससे उबरने में हमारी मदद करेगा।

मालदीव ने की भारत की जमकर तारीफ

मालदीव सरकार ने दोनों देशों के रिश्ते को लेकर भारत की जमकर तारीफ की। चार दिन के भारतीय दौरे पर आए मालदीव के विदेश मंत्री अब्दुल्ला शाहिद ने कहा कि भारत द्वारा जो मालदीव सरकार को उदारतापूर्वक हेलीकॉप्टर दान में दिए जाते हैं उनका इस्तेमाल मानवतावादी उद्देश्यों के लिए किया जा रहा है। पिछले कई सालों में हमारे यहां 164 पीपीएल हवाईअड्डे हो गए हैं। हम इसके लिए भारत के आभारी हैं , अपनी सभी आवश्यकताओं के लिए हम भारत से जुड़े रहेंगे।

शाहिद ने आगे कहा कि हमारे विकास के लिए दशकों से भारत सबसे बड़ा योगदानकर्ता है। चीन सबसे बड़ा पर्यटक आगमन प्रदान करता है और सहायता को तैयार रहता है। हम अपने दोस्तों की तुलना नहीं करेंगे लेकिन हमारे मित्र विशेष मित्र हैं और भारत हमेशा हमारा एक विशेष मित्र रहेगा। मालदीव की पुरानी सरकार पर वार करते हुए शाहिद ने कहा कि यामीन सरकार ने अपने स्वयं के उद्देश्यों के लिए भारत विरोधी भावनाओं में वृद्धि की। हम इसे बदल देंगे, मालदीव के लोग इसका समर्थन नहीं करते हैं। हमारी सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि मालदीव भारत का रिश्ता बेहतर हो।

भारत हमारा सबसे अच्छा दोस्त है और जरूरत के सभी घंटों में हमारे लिए खड़ा रहा है, 1988 के आतंकवादी हमले हों या सुनामी या फिर हाल के जल संकट हो भारत हमेशा हमारे साथ रहा। हम जानते हैं और हमें भरोसा है कि भारत हमेशा इसी तरह हमारे साथ रहेगा।भारत और मालदीव के बीच द्विपक्षीय संबंध को मजबूत बनाने के मकसद से इस द्वीपीय देश के विदेश मंत्री अब्दुल्ला शाहिद चार दिवसीय दौरे पर भारत आए हैं। वह अपने इस दौरे पर कई अहम मुद्दों पर बातचीत करेंगे। 

अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि सोमवार को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के साथ उनकी विस्तार से बातचीत होगी। गोरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में मालदीव की यात्रा की थी। वे नव निर्वाचित राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सालेह के शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेने गए थे। 

No comments