INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

जिले की पुलिस अपराधों पर अंकुश लगाने में नाकाम

रायबरेली- सेन्ट्रल बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष, पूर्व जिला शासकीय अधिवक्ता (फौजदारी) एवं वरिष्ठ समाजवादी नेता ओ0पी0 यादव ने कहा कि जिले में औसत एक हत्या प्रतिदिन होती है।  बलात्कार, लूट, चोरी, अपहरण, चेन स्नेचिंग, हत्या के प्रयास, मारपीट जैसे अपराधों की बाढ़ सी आ गयी है।  अपराधी भयमुक्त है, क्योंकि पुलिस द्वारा उन्हें संरक्षण दिया जाता है।  निर्दोषों के उत्पीड़न में पुलिस कीर्तिमान स्थापित कर रही है।  जिले की पुलिस अपराधों पर अंकुश लगाने में नाकाम है।

थाना डलमऊ अन्तर्गत एक दलित युवक की हत्या मात्र इसलिए कर दी गयी थी, उसने सवर्णो के आने पर खड़े होकर सलाम नहीं बजाया। लालगंज थानान्तर्गत एक व्यापारी के नाबालिग लड़के का अपहरण पुलिस की अकर्मण्यता के जीते जागते नमूने है।  जनपद में योगी सरकार आने के बाद आये दिन हत्यायें हो रही हैं।  लेकिन योगी सरकार ने मात्र 6 मृतकों के परिजनों को पाँच-पाँच लाख रूपये का मुआविजा दिया है, सभी एक ही जाति में है।  दलित, पिछड़े एवं मुस्लिमों की हत्याओं पर परिजनों को एक पैसा नहीं दिया गया।  सूबे की सरकार उन्हें कीड़ा-मकौड़ा समझती है।

दलित युवक की हत्या में शामिल सभी आरोपी शातिर अपराधी है।  एक आरोपी के पिता अपने सेवाकाल में डी0जी0पी0 के गनर रह चुके हैं।  संइया भए कोतवाल तो डर काहे का’ डी0जी0पी0 के यहाँ से संरक्षण प्राप्त आरोपियों को पुलिस गिरफ्तार करने का साहस भी नहीं जुटा पा रही है। श्री यादव ने दलित युवक के हत्यारों सहित जिले मे हुई अन्य हत्याओं एवं अपराधिक घटनाओं से जुड़े लोगों की शीघ्र गिरफ्तारी किये जाने की माँग की है।  दलित युवक के परिजनों को कम से कम 10 लाख रूपया मुआविजा दिए जाने की मांग की है।

No comments