INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

मऊ को सूखाग्रस्त घोषित करने की मांग


मऊ - जनपद को सूखाग्रस्त जनपद घोषित कराने की मांग को लेकर जिलापंचायत पूर्वअध्यक्ष व भाजपा किसान नेता राकेशसिंह ने प्रदेश के राहतआयुक्त/सचिव-राजस्व उ०प्र० शासनश्रीसंजयकुमार को पत्रक देकर मऊ जनपद को सूखाग्रस्त घोषित कर किसानों कोराहत राशि देने कीमांग किया। 

इन्होने पत्रक मेंकहाकि मऊजनपद में जून 2018 में सामान्यवर्षा 107.6 केसापेक्ष मात्र 17.5 मि०मी०,जुलाई2018 मेंसामान्यवर्षा 298मि०मी० केसापेक्ष मात्र 29.50 मि०मी०हीहुईहै। देखाजाय तो 25 वर्षों में इस वर्ष जुलाई माह में पहली बार सबसे कम वर्षाहुईहै।

अब तक जून-जुलाई मेंकुल 11.5प्रतिशत हीबारिसहईहैामऊ जनपदमें पूरा शुष्क स्केल को देखाजाय तोमात्रजून व जुलाई मेंतीन दिनहीबारिस बीस दिन के अन्तरालपरहुईहै। मऊजिलेमेंकुल 70 नहरेंहैं जिसमें से किसी भी नहर में पानी टेल तक नहीं गया हैइन 70 नहरों कीजिले मेंकुललम्बाई 422.494 कि०मी०है 

जिले भूजलस्तर की स्थिति यहहै कि वाटरलेबिल जून व जुलाई माह में 20 से25 मी० इससमयहै जबकि पिछले साल2017 में 10से11 मी० वाटरलेबिल था,इसतरह सेजिले के सभी नव विकास खन्ड डार्क जोन मेंहै।

जिले में सभी तालाब,पोखरा,नाला,ताल-तलैया व कुँओं में पानी नहींहै। इन्डिया मार्काटूहैण्डपम्प तथा नीजी नलकूप पानी का जलस्तर नीचे जाने से पानी देना बन्द करदिये है किसान सिचाई के लिये समरसेबुल लगवा रहाहैजिसकी बोरिगं 150 से200 फीट करारहाहैा।

जिले में खरीफ की खेती लगभग 92500 हैक्टेयर में लक्ष्य के सापेक्ष मात्र 15000हैक्टेयर भी धान कीअबतक नहीं रोपाई होपायीहै। जिले में बिजली आपूर्ति लगातार 05घन्टा भी नहींमिलता है अघोषित कटौती से आमआदमी ,किसान परेशान रहता है,

जिले मेंवर्षा सामान्य वर्षा से बहुत कम हुई है एक विगहा धानरोपने में अबतक किसान का बीजदवाई,जुताई,सिचाई,मजदूरी,आदि परलगभग 8हजार से दश हजार रूपया लगाचुकाहै ।स्पष्ट दिखाई दे रहा है कि अबतक 70 % क्षति होचुकी है जबकि 33 % क्षति पर ही जनपद सूखा ग्रस्त सूखा मैनुअल 2016 के।निर्धारित मानक केअनुसार हो जाना चाहिए। 

इन्होने बताया कि प्रदेश के राहतआयुक्त/ सचिव ने कहा कि जत्न्द ही जिलाघिकारी व आयुक्त से इस पर मैनुअल केतहत रिपोर्ट मांग कर उचित कार्यवाही शासन स्तर से होगी। इन्होने कहा कि इस समयतापमान 25 से 30 ङीग्री सेल्सीयत चाहिए लेकिन पूरा मई व जून माह में तापमान 34 से 36 डीग्री सेल्सीयत रहाह

रिपोर्ट - कमलेश कुमार पाल, संवाददाता : मऊ


No comments