INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

भाजपा-कांग्रेस ने कसी कमर, 4 जुलाई से मिशन यूपी

DELHI - भाजपा और कांग्रेस ने देश के सबसे बड़े राज्य में मिशन 2019 की तैयारियां शुरू कर दी है। लोकसभा चुनाव में जीत की राह तलाशने के लिए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी 4 जुलाई से प्रदेश के दो दिवसीय दौरे पर रहेंगे।
गोरखपुर, फूलपुर के बाद कैराना व नूरपुर में भाजपा की हार के बाद अमित शाह यूपी में पहली बार आ रहे हैं। 4 जुलाई को वह मिर्जापुर में भाजपा के काशी, गोरखपुर और अवध क्षेत्र के  लोकसभा क्षेत्र प्रभारियों व अन्य नेताओं से मुलाकात कर जमीनी हालात का जायजा लेंगे। 

यहीं से वह सपा-बसपा के संभावित गठबंधन की काट तलाशेंगे। वाराणसी में वह भाजपा आईटी सेल के सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र से शाह भाजपा के मीडिया कंपेन को धार देंगे ताकि विरोधियों की मजबूती से घेराबंदी की जा सके।

5 जुलाई को अमित शाह आगरा में बृज व कानपुर-बुंदेलखंड क्षेत्र की बैठक में शामिल होंगे। एक तरह से वह पश्चिम और पूर्वांचल दोनों ही क्षेत्रों का फीडबैक लेंगे। उनके इस दौरे को मिशन 2019 के लिए महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मगहर (संत कबीरनगर) से 28 जून को संत कबीर के बहाने यूपी से चुनाव अभियान का श्रीगणेश कर चुके हैं।

दूसरी तरफ राहुल गांधी भी 4 जुलाई से दो दिवसीय दौरे पर अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी आ रहे हैं। वह कार्यकर्ताओं से मिलने के साथ ही कई कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे। वह उस मुस्लिम किसान के घर भी जाएंगे जिसकी गेहूं खरीद केंद्र  के बाहर मौत हो गई थी।

इसके बहाने वह भाजपा सरकार को घेरने की कोशिश करेंगे। खरीद केंद्र पर काल के गाल में समाए किसान के घर भाजपा का कोई प्रमुख नेता नहीं पहुंचा है।

कोई टिप्पणी नहीं