INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

थराली में बादल फटा, 10 दुकान और कई वाहन बहे


देहरादून - पर्वतीय जिलों में बारिश आफत बनती जा रही है। चमोली जिले के थराली में बादल फटने से दस दुकानों के साथ ही करीब दस वाहन बह गए। चारधाम यात्रा मार्ग बार-बार अवरुद्ध हो रहे हैं। वहीं, मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटे तक सात जिलों में भारी बारिश की चेतावनी दी है। इसे देखते हुए पिथौरागढ़ के स्कूलों में आज छुट्टी घोषित की गई है।


चमोली जनपद के थराली ब्लाक के धारडंबगड में तड़के करीब 3:00 बजे बादल फटने से 10 दुकानें, तीन बोलेरो वाहन, एक मैक्स, दो कार, चार बाईक बहने की सूचना है। बादल फटने से हुए नुकसान की जानकारी मिलते ही जिलाधिकारी आशीष जोशी के निर्देश पर सुबह करीब चार बजे आईआरएस की टीम मौके के लिए रवाना हो गई। 

यही नहीं चमोली के घाट ब्लॉक में सेराबगड व कुंडी गांव में भूस्खलन से पांच परिवारों के बेघर होने की सूचना है। साथ ही कई मवेशी मलबे में दब गए। वहीं चटवापीपल के पास मलवा आने से सडक बंद हो गई है।
डीएम ने थराली व घाट एसडीएम को रेस्क्यू टीम के साथ घटना स्थलों का मौका मुआयना करने तथा स्थिति से अवगत कराने के निर्देश दिये है। डीएम ने कहा कि यदि आवश्यकता होगी तो एनडीआरएफ को भी भेजा जायेगा।

वहीं, चमोली जिले में सुबह भी बारिश का दौर जारी है। रुद्रप्रयाग, उत्तरकाशी व गढ़वाल के अन्य जिलों में भी सुबह से ही बारिश हो रही है। चमोली में बदरीनाथ हाइवे चटुवापीपल, पीपलकोटी, लामबगड में भूस्खलन से बंद हो गया। इससे बदरीनाथ व हेमकुंड यात्री इन स्थानों पर रुककर रास्ता खुलने का इंतजार कर रहे हैं।
उत्तरकाशी में तड़के तीन बजे से बारिश का दौर शुरू हो गया। जिला मुख्यालय सहित आसपास के क्षेत्र की बिजली भी गुल हो गई। गंगोत्री हाईवे नालूपानी और ज्ञानसू के पास, यमुनोत्री हाईवे डाबरकोट के पास भूस्खलन होने से बंद हो गया। वहीं,  केदारनाथ हाईवे तिलवाड़ा-रामपुर के बीच भूस्खलन से बार-बार बंद हो रहा है।



No comments