INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

क्या है पीरियड, सही समय पर पीरियड्स लाने के नुस्खे


पीरियड्स की समस्या महिलाओं के लिए बहुत बड़ी समस्या होती है क्यूंकि औरत के माँ बनने के लिए मासिक धर्म चक्र का सही होना बहुत जरूरी होता है अनियमित मासिक धर्म किसी भी औरत के लिए पीड़ादायक होता है |

लड़कियों में भी पीरियड की समस्या अक्सर हो जाती है जिसकी वजह से उनका स्वभाव चिडचिडा हो जाता है और मासिक धर्म यानि period na hone ke karan सामान्यत पीरियड्स में होने वाला दर्द ओर भी बढ़ जाता है लेकिन इसके लिए आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है

क्यूंकि हम आपके लिए लेकर आयें हैं Period aane ke gharelu nuskhe जिन्हें अपना कर आप इस समस्या से घर पर ही छुटकारा पा सकती हैं |


पीरियड क्या है


पीरियड्स की समस्या का समाधान जानने से पहले हमे पीरियड क्या है ये जान लेना चाहिए | पीरियड जिसे अंग्रेजी भाषा में menstruation कहा जाता है जो सामान्यत 28 दिनों के अन्तराल में होता है | लेकिन मासिक धर्म चक्र 21 से 35 वें दिन के बीच में हो सकता है और जो 3 से 7 दिन तक रहता है | लेकिन कई बार उचित समय अवधि की बजाए देरी से होने के कारण masik dharam की अनियमितता की समस्या पैदा हो जाती है |
अनियमित मासिक धर्म शरीर पर प्रतिकूल प्रभाव डालता है इसलिए इस समस्या का समाधान जरूरी है | माहवारी शरीर के दो होर्मोनेस प्रोजेस्टेरोन और एस्ट्रोजन के द्वारा कण्ट्रोल की जाती है | जब इन दोनों होर्मोनेस में कुछ बदलाव होता है तो अनियमित माहवारी की समस्या पैदा हो जाती है |
मासिक धर्म चक्र को 4 चरणों में बांटा जा सकता है जिसके अंतिम चरण में जब अंडा unfertilised रह जाता है तो शरीर उसे योनी मार्ग से बाहर निकाल देता है जिसे पीरियड, menstruation cycle या mc आदि कहा जाता है |
पीरियड नहीं आने के बहुत से कारण हो सकते हैं लेकिन अगर आप प्रेगनेंसी की प्लानिंग कर रहीं हैं तो पीरियड मिस होने पर आपके पेट के निचले हिस्से में दर्द होगा |

Periods Nahi Hone ke Karan

सही समय पर पीरियड्स न आना इसके बहुत से कारण होते हैं जैसे कि
  • हार्मोन में बदलाव
  • अनियमित व पोष्टिक आहार न लेना
  • अधिक तनाव के कारण
  • शरीर में खून की कमी होना
  • गर्भनिरोधक दवाओ और दूसरी दवाओ के कारण
  • गर्भधारण के बाद अथवा गर्भपात की स्थिति में
  • शरीर का वजन बहुत कम या ज्यादा होने के कारण |
  • PCOS (Polycystic Ovarian Syndrome) की वजह से
  • Thyroid की समस्या के कारण
  • बहुत ज्यादा व्यायाम करने से
  • लीवर की समस्या के कारण
  • स्तनपान करवाने के कारण
  • टीबी की बीमारी की वजह से
ये महिलायों के लिए मुश्किल समय होता है | इस समय में पेट में व स्तनों में दर्द, चुभन, उलटी आना व कमजोरी महसूस करना आदि समस्याएँ हो सकती हैं |

लाइफ स्टाइल में कुछ जरूरी बदलाव

Period aane ke gharelu nuskhe अपनाने से पहले आप अपने लाइफ स्टाइल में कुछ जरूरी बदलाव कर लें ताकि आप अनियमित मासिक धर्म की समस्या से जल्दी राहत पा सकें जैसे कि
  • पोष्टिक आहार लें
  • ताजा फल और हरी सब्जियों का सेवन करें
  • पानी बहुत अधिक मात्रा में पियें
  • ध्यान यानि मैडिटेशन का सहारा लें
  • शरीर में आयरन और फोलिक एसिड की कमी दूर करने के लिए सरकारी आयरन टेबलेट्स लें
  • हल्का व्यायाम करें
  • कैफीन नहीं के बराबर लें
  • तम्बाकू से दूर रहे
  • मल्टीविटामिन लें
  • बीमार व्यक्ति से दूर रहे

Period Aane ke Gharelu Nuskhe

आइये जानते हैं पीरियड मिस होने पर घरेलु उपाय जिन्हें घर पर ही इस्तेमाल करके आप इस समस्या से छुटकारा पा सकती है

लोकी का रस

अनियमित पीरियड्स की समस्या से छुटकारा पाने में लोकी का रस फायदेमंद होता है | लोकी के रस में आयरन और फाइबर की मात्रा अधिक होती है | पीरियड्स के दिनों में कमर दर्द और cramps आपको परेशान कर सकते हैं ऐसे में लोकी का रस न केवल मासिक धर्म को नियमित करता है बल्कि कमर दर्द और abdominal cramps के दर्द से भी राहत दिलाता है |
लोकी का रस निकाल कर दिन में दो से तीन बार तक ले सकते है | इसकी सब्जी का सेवन करने से भी इसके फायदे मिलते हैं इसलिए इसकी सब्जी का सेवन भी किया जा सकता है |

पपीते से इलाज

पपीते में बरोमेलैन नाम का पदार्थ पाया जाता है जो की पीरियड्स की समस्या से निजात दिलाने में सहायता करता है | पपीते के शेक या पपीते के रस का नियमित रूप से सेवन करने से भी अनियमित पीरियड्स की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है |
Period lane ke liye कच्चे पपीते का सेवन अच्छा होता है | इसे प्रयोग करने के लिए इसकी सब्जी भी बनाकर भी खा सकते हैं | कुछ हफ्तों तक लगातार पपीते का सेवन करने से अनियमित पीरियड की समस्या से राहत मिलेगी और पीरियड आने के बाद पपीते का सेवन बंद कर दें |

अदरक का प्रयोग

Period aane ke gharelu nuskhe में अदरक की चाय या काढ़ा बहुत फायदेमंद साबित होता है | इसका काढ़ा बनाने के लिए एक चम्मच अदरक को एक गिलास पानी में अच्छे से उबाल लें | अब इसमें एक चम्मच चीनी मिलाकर इसे दिन में तीन बार खाना खाने के बाद लें |
अनियमित पीरियड्स की समस्या को दूर करने के लिए अदरक की चाय का सेवन करना भी फायदेमंद होता है |

Period jaldi lane के लिए अंजीर

Periods jaldi aane ke upay में अंजीर बहुत सहायक सिद्ध होती है | इसके लिए 2 से 3 अंजीर को एक गिलास पानी में उबाल ले जब तक पानी आधा न रह जाए | अब इस काढ़े को छानकर पी ले | अंजीर का प्रयोग अनियमित पीरियड्स की समस्या से छुटकारा दिलाता है |

सौंफ का प्रयोग

सौंफ के सेवन से भी अनियमित पीरियड्स की समस्या को दूर किया जा सकता है | इसके लिए दो चम्मच सौंफ लेकर इन्हें एक गिलास पानी में रात में भिगो कर रख दे | सुबह इस पानी को छान कर पी ले | इसे नियमित रूप से पीने से आपके पीरियड्स नियमित हो जाएँगे |

बरगद की जड़ से इलाज

बरगद की हमारे देश में पूजा की जाती है क्यूंकि ये अपने ओषधिय गुणों के कारण जाना जाता है | बरगद की जड़ irregular periods की परेशानी को दूर करने में बहुत लाभकारी है |
बरगद की जड़ को एक गिलास पानी में अच्छे से उबाल लें, इस पानी को तब तक उबालें जब तक पानी की मात्रा आधी नहीं रह जाए |जब पानी आधा रह जाए तो इस पानी को छान कर दिन में दो बार पिए, इससे आपको जल्दी ही अनियमित पीरियड्स की समस्या से छुटकारा मिलेगा |

मुली के बीज का प्रयोग

मुली के बीजो को पीसकर इसका चूर्ण बना ले | इस चूर्ण का एक चम्मच दूध में मिलाकर दिन में कम से कम एक बार जरूर पियें | मुली के बीजों के चूर्ण को दूध के मिलाकर पीने से कुछ ही हफ़्तों में period nahi aane ki smasya दूर हो जाएगी |

योगासन और प्राणायाम

योग मासिक धर्म चक्र को नियमित करने में बहुत सहायक है | ये मासिक धर्म न आना और period me pet dard ke upay में बहुत कारगर सिद्ध होता है | इस समस्या के मुख्य कारणों में से एक है तनाव | योगासन और प्राणायाम करने से तनाव दूर होता है | इस समस्या का दूसरा मुख्य कारण है hormone imbalance जिसे योगासन ठीक कर देता है |
इसके अलावा ये शरीर के मेटाबोलिज्म को भी नियमित करता है जिससे अनियमित मासिक धरम की समस्या में लाभ मिलता है | योगासन में धनुरासन, मलासन और मत्स्य आसन इस समस्या में बहुत लाभ देते हैं | लेकिन कोई भी आसन किसी अच्छे योग अध्यापक की देख रेख में ही करना चाहिए |



 INA NEWS DESK

No comments