INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

आजमगढ़ प्रधान हत्याकांड: दूसरे दिन गांव में पसरा सन्नाटा

 NEELAM MAHEE - INA NEWS DESK

आजमगढ़ जिले के तरवां थाना क्षेत्र में बांसगांव के प्रधान और पुलिस की गाड़ी से मृत बालक सूरज का शव पोस्टमार्टम के बाद गांव में पहुंचते ही कोहराम मच गया। भारी फोर्स और अधिकारियों की मौजूदगी में दोनों के शव अलग-अलग कब्रिस्तान में दफन किए गए। वहीं मृतक प्रधान के परिजनों की तहरीर के आधार पर पुलिस ने चार के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज कर लिया है। जिनकी तलाश में पुलिस की टीमें लगी हुई है। 

 

इसके बाद बदमाश मृत प्रधान के घर पहुंचकर घटना की सूचना दिए और फिर भाग निकले। प्रधान की हत्या की जानकारी होने पर भारी संख्या में पुलिस बल गांव की ओर रवाना हुई। इसी दौरान पुलिस की एक गाड़ी ने अनियंत्रित होकर बोगरिया चौकी के पास 12 वर्षीय सूरज को रौंद दिया, जिससे उसकी भी मौके पर ही मौत हो गई। दोनों घटनाओं से ग्रामीण आक्रोशित हो उठे। 

आक्रोशित लोगों ने प्रधान के हत्यारोपी के घर पर तोड़फोड़ करने के साथ ही बोगरिया चौकी पर भी तोड़फोड़ व आगजनी की। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस महकमे को घंटों मशक्कत करनी पड़ी। यहां तक कि 20 से 25 राउंड फायरिंग भी पुलिस की तरफ से की गई। 

वहीं ग्रामीणों ने भी पुलिस टीम पर जमकर पथराव किया। रात दस बजे पुलिस ग्रामीणों को शांत करा सकी और दोनों शव कब्जे में लेकर पीएम के लिए भेजा। पीएम के बाद दोनों शव शनिवार को गांव में पहुंचा तो कोहराम मच गया। परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने चार के खिलाफ नामजद मुकदमा पंजीकृत कर लिया है। नामजद आरोपियों में भोलू उर्फ विवेक सिंह पुत्र विजेंदर सिंह, सूर्यांश कुमार दुबे पुत्र गुड्डू दुबे, विजेंद्र उर्फ गप्पू पुत्र राम नगीना सिंह,  वसीम पुत्र मुस्तफा उर्फ टमाटर शामिल हैं। नामजद लोगों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम लगी हुई। एसपी सिटी पंकज पांडेय, एसडीएम मेंहनगर प्रियंका प्रियदर्शी समेत अन्य आलाधिकारी दिन भर क्षेत्र में जमे रहे।

मृत प्रधान के परिजनों को दिया गया 10 लाख का चेक

बदमाशों की गोली से मृत प्रधान सत्यमेव जयते के परिजनों को मुख्यमंत्री राहत कोष से 5 लाख रुपये की सहायता राशि का चेक प्रदान किया गया। जिलाधिकारी राजेश कुमार ने स्वयं मौके पर पहुंच कर परिजनों को चेक प्रदान किया।

इसके अलावा एससी-एसटी उत्पीड़न में प्रावधानितन सवा आठ लाख की आधी धनराशि भी परिजनों को दी गई। इसके अलवा मृत बालक सूरज के परिजनों को मुख्यमंत्री राहत कोष से पांच लाख का चेक दिया गया। जिलाधिकारी ने बताया कि प्रधान के परिवार को 412000 का चेक कागजात आदि की कवायद पूरी होने के बाद और प्रदान किया जाएगा।

छावनी में तब्दील रहा पूरा क्षेत्र

घटना के दूसरे दिन भी पूरा क्षेत्र पुलिस छावनी में तब्दील रहा। दिन भरा आलाधिकारी जहां गस्त करते रहे तो वहीं पुलिस व पीएसी के जवान भी दिन पर तैनात रहे। गांव के साथ ही आसपास के बाजारों में भी पुलिस व पीएसी के जवानों को तैनात किया गया था। सीओ लालगंज अजय यादव के साथ ही कई थानों की फोर्स मौके पर जुटी नजर आई।




No comments

Welome INA NEWS, Whattsup : 9012206374