INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

शहर में जगह जगह लगते थे कूड़े के ढ़ेर, अब उगा दिये पौधे

INA NEWS DESK 

सिरसा : अनाजमंडी स्थित सरकारी स्कूल के बाहर का दृश्य, वर्षाें से मुख्य सड़क व गलियों का कूड़ा कर्कट वहां एकत्रित होता था। उस सड़क से गुजरना भी दुभर था और कूड़ा प्वाइंट से चंद कदमों की दूरी पर ही खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय, छोटे बच्चों का प्राथमिक स्कूल और कुछ दूरी पर चलकर मॉडल स्कूल। परंतु अब तस्वीर बदल चुकी है। नगर परिषद ने वहां से कूड़ा प्वाइंट हटा दिया है और उस स्थान पर पौधे रोपित कर दिये है। कुछ ऐसा ही सुधार हुडा चौक पर भी नजर आ रहा है।

 

शहर में आठ जगहों पर कूड़ा कचरा डालने के प्वाइंट थे। जहां सफाई कर्मी साफ सफाई करने के बाद एक जगह कूड़ा एकत्रित करता था, वहां से गाड़ियों से उक्त कूड़ा कचरा प्रबंधन प्लांट तक पहुंचाया जाता है। नगर परिषद ने आठ में से छह प्वाइंटों को हटा दिया है। अब जगह जगह कूड़ा एकत्रित नहीं किया जाता। पहले जगह जगह लगने वाले कूड़े                                                                                                                  के ढेर परेशानी का सबब बनते थे। 

सेकेंडरी कलेक्शन प्वाइंट को एमआरएफ में बदला शहर में नगर परिषद द्वारा सात सेकेंडरी कलेक्शन प्वाइंटों को मटीरियल रिकवरी फैसिलिटी प्वाइंट में बदला गया है। जहां से कूड़े कचरे में से लोहा, प्लास्टिक इत्यादि अलग कर करके कूड़े का निस्तारण किया जाता है। लोहे, पॉलीथिन इत्यादि को बेच दिया जाता है। सेकेंडरी रिकवरी फैसिलिटी प्वाइंट में कूड़े को निस्तारण करने के बाद शेष कूड़े को बकरियांवाली प्लांट में पहुंचाया जाता है। 

31 गाड़ियां, 240 सफाई कर्मी शहर को कर रहे हैं स्वच्छ

शहर में घरों से डोर टू डोर गाड़ियां कूड़ा उठा रही है। शहर में रोजाना करीब 90 से 100 टन कूड़ा निकलता है। कूड़ा कचरा उठाने के लिए शहर के 31 वार्डों में 31 गाड़ियां है। इसके अलावा ट्रैक्टर-ट्राली और जेसीबी सहित 15 वाहन है। नगर परिषद के अंतर्गत 240 सफाई कर्मी है, जिनमें 181 स्थायी और 59 कच्चे कर्मचारी है। घरों में से कूड़ा उठाने के लिए लगाई गाड़ियों में भी गीला व सूखा कूड़ा अलग अलग उठाया जाता है।

शहर को कूड़ा मुक्त करने की दिशा में प्रयास किए जा रहे हैं। छह कचरा प्वाइंटों को हटा कर वहां पौधे लगाए गए हैं। इसके अलावा सेकेंडरी कलेक्शन प्वाइंटों में कूड़े को अलग अलग निस्तारित किया जाता है। शहर में घरों में से कूड़ा उठाने के लिए 31 गाड़ियां लगाई गई है, जिनके माध्यम से कूड़ा एकत्रित कर बकरियांवाली गांव में स्थित कचरा प्रबंधन प्लांट में भेजा जाता है।



कोई टिप्पणी नहीं