INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

केजीएमयू में संविदा नर्स से छेड़खानी,पीड़ित ने दर्ज करायी एफआईआर

लखनऊ-केजीएमयू में एक ओटी टेक्नीशियन द्वारा संविदा नर्स से कमरे में छेडख़ानी का मामला सामने आया है। वहीं नर्स के विरोध करने पर आरोपी टेक्नीशियन ने उसे धमकाया और विरोध करने पर पिटाई की। इस बात से क्षुब्ध होकर नर्स ने केजीएमयू और निजी कंपनी के अधिकारियों से शिकायत की। अधिकारियों ने उसकी सुनवाई नहीं की।  आरोपी टेक्नीशियन को बचाने का प्रयास किया और नर्स को नौकरी से ही निकाल दिया।

वही मंगलवार को जब मामले ने तूल पकड़ा। अन्य कर्मचारियों की मदद से विरोध जताया गया। उसके बाद आला अधिकारियों ने मामले को संज्ञान में लेते हुए पीड़ित नर्स की ओर से आरोपी टेक्नीशियन के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। 

जानकारी के मुताबिक केजीएमयू न्यूरो सर्जरी विभाग में मऊ की एक लड़की संविदा पर नर्स है। वह पैंथर सिक्योरिटी मैनपावर कंपनी की ओर से तैनात है। नर्स का आरोप है कि न्यूरो सर्जरी विभाग के ओटी टेक्नीशियन अमित सिंह ने विभाग के कमरे में सोमवार को अकेले पाकर उससे छेडख़ानी की। अमित की हरकतों का उसने शोर मचाते हुए विरोध किया तो आरोपी ने उसे पीटना शुरू कर दिया। इसी बीच कुछ अन्य कर्मचारी वहाँ पर आ गए। उन स्थायी कर्मचारियों ने अमित का ही पक्ष लेना शुरू कर दिया। शर्मिंदा होकर नर्स खुद ही वहां से निकल गई। केजीएमयू के अधिकारियों के पास पहुंची। आरोप है कि वहाँ से उसको न्याय नहीं मिला। 

केजीएमयू में न्याय न मिलने पर पीड़ित नर्स ने अपनी कंपनी पैंथर सिक्योरिटी के अधिकारी दिग्विजय सिंह को कॉल करके पूरा मामला बताया। नर्स का आरोप है कि मामला सुनने के बाद इस अधिकारी ने उससे कहा कि अमित लोग स्थायी कर्मचारी हैं। उनकी शिकायत करने से कोई फायदा नहीं है। यही नहीं इस अधिकारी ने नर्स से मोबाइल पर भी अभद्रता करते हुए कहा कि तुम नौकरी छोड़ दो। और सोमवार को ही उसे नौकरी से हटा दिया गया। पीड़ित नर्स ने मंगलवार को मामले की जानकारी अपने अन्य साथियों और नेताओं को दी। इस पर संयुक्त स्वास्थ्य आउट सोर्सिंग संविदा कर्मचारी संघ लामबंद हो गया। संयुक्त स्वास्थ्य आउट सोर्सिंग संविदा कर्मचारी संघ के अध्यक्ष रितेश मल्ल व अन्य पदाधिकारियों ने विरोध में प्रदर्शन किया। और पीडि़ता के साथ चौक कोतवाली जाकर मामले की रिपोर्ट दर्ज कराई। आरोपी ओटी टेक्नीशियन अमित सिंह और कंपनी के अधिकारी दिग्विजय के खिलाफ तहरीर दी। रात में मामले की एफआईआर दर्ज कर ली गई।

मो0 रिज़वान,लखनऊ

कोई टिप्पणी नहीं