INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

रावत के राज में खरई वैरियर पर गुंडाराज,वाहन चालाकों से आपराधिक अंदाज में की जा रही अवैध बसूली!

गजेन्द्र वर्मा


शिवपुरी
इस समय खरई आरटीओ बैरियर खासा सुर्ख़ियों में बना हुआ है।बैरियर पर रावत के यहां पदस्थ होने के बाद से जो कुछ खेल वैरियर पर खेला जा रहा है,वह किसी से दबा छुपा नहीं है। मध्यप्रदेश और राजस्थान बोर्डर पर स्थित खरई आरटीओ वैरियर पर वाहन चालकों से आपराधिक अंदाज में अवैध वसूली का खेल खेला जा रहा है। सूत्र बतातें है कि इस काले खेल को अंजाम देने के लिए वैरियर प्रभारी रावत द्वारा लगभग एक दर्जन से अधिक कटरों को बाहर के जिलों से लाकर वैरियर पर वकायदा नौकरी पर रखा जाकर इनसे अवैध वसूली करबाए जाने के आरोप सामने आये है। बताया जाता है कि जो वाहन चालक जहां पर अवैध वसूली नहीं देता है उसका चालान काटे जाने का खौफ दिखाते हुए उसे कई प्रकार की धमकियां दी जाकर उनसे अवैध बसूली की जा रही है। ऐसा ही एक मामला गतरोज सामने आ रहा है जिसमें खरई वैरियर पर अवैध बसूली का शिकार हुए एक वाहन चालाक ने आपबीती सुनाई है। यहां बतादें कि वर्तमान में खरई आरटीओ वैरियर पर आरपी रावत प्रभारी बताए जाते है। सूत्रों का कहना है कि आरपी रावत के यहां पदस्थ होने के बाद से ही वाहन चालाकों से बड़े पैमाने पर अवैध बसूली की जा रही है। इस वैरियर गुजरने वाले एक दो नहीं बल्कि कई वाहन चालाकों ने खुले तौर पर अपनी पीड़ा बयां करते हुए खरई आरटीओ वैरियर पर चल रही अवैध बसूली और गुंडाराज का खुलासा किया है।
अवैध वसूली की कहानी वाहन चालक की जुबानी
राजस्थान के कोटा निवासी वाहन चालक सुरेन्द्र पाल ने जो कि कंटेनर वाहन का चालक है। वह गतरोज अपने वाहन को गुजरात से लेकर झांसी की ओर जा रहा था। इसका वाहन जब खरई वैरियर पर पहुंचा तो यहां पहले उनके वाहन की 120 रूपए की कांटा पर्ची काटी गई। कांटा पर्ची कटने के बाद जब वाहन चालक ने यहां से आगे की ओर जाने का प्रयास किया तो इसके वाहन को वैरियर पर तैनात कटरों ने रोक लिया और वाहन चालक से कहा कि पहले अपने वाहन के कागजों की जांच कराओ इसके बाद ही तुम्हारी गाड़ी आगे जा पाएगी। वाहन चालक सुरेन्द्र पाल जब आरटीओ वैरियर पर अपनी गाड़ी के दस्तावेज लेकर पहुंचा तो वहां अंदर बैठे व्यक्तियों ने उससे अवैध वसूली के तौर पर 1000 रूपयों की मांग की। जब वाहन चालक ने इन्हें 1000 रूपए देने से इंकार किया तो उन्होंने वाहन चालक को धमकाते हुए अंदाज में कहा कि अगर उक्त राशि नहीं देगा तो उसके वाहन का 5 हजार रूपए का चालान काट दिया जाएगा। वाहन चालक सुनेन्द्र पाल ने अवैध वसूली के 1000 रूपए देने के लिए तैयार नहीं हुआ उसने 5000 रूपए का चालान कटवाना उचित समझा। वाहन चालक का कहना था कि आप चालान काट दो लेकिन वह अवैध वसूली के 1000 रूपए नहीं देगा। क्योंकि अगर चालान काटा जाएगा तो वह रसीद दिखाकर अपने मालिक से 5000 रूपए ले लेगा। लेकिन अवैध वसूली वाले 1 हजार रूपए की उसे कोई रसीद प्राप्त नहीं होगी और उक्त राशि उसे अपने जेब से देना पड़ेगी। अवैध वसूली न देने और चालन कटवाने को लेकर तैयार हुए वाहन चालक की वैरियर पर मौजूद कटरों व कर्मचारियों से तीखी बहस हुई लेकिन वैरियर पर मौजूद कर्मचारी एवं कटरों ने उनका चालान नहीं काटा। बाद में चालक पर कटरों ने दबाव बनाया और उससे अवैध वसूली के तौर पर 1000 रूपए ले लिए गए। तब कहीं जाकर वाहन को आगे की ओर जाने दिया।

चौतरफा रहती है कटरों की पैनी नजर

खरई वैरियर के दोनों ओर कटर बैठे रहते है जिनकी नजर वैरियर पर आने वाले हर व्यक्ति के अलावा कारों पर भी रहती है। वैरियर पर तैनात किए गए कटरों को जैसे ही कोई ऐसा व्यक्ति या वाहन जो यहां चल रही अवैध वसूली में बाधा डाल सके, आता दिखाई देता है तो वह तत्काल इसकी सूचना परिवहन विभाग के  अंदर बैठे कर्मचारी एवं अन्य कटरों को कर देते है। सूचना मिलने के बाद यहां कोई व्यक्ति या कार पहुंचे उससे पूर्व ही वाहन चालकों को साईट से एक तरफ खड़ा कर दिया जाता है और अवैध वसूली रोक दी जाती है। आरटीओ वैरियर के जिस स्थान पर ट्रक चालकों से वसूली होती है उस स्थान पर भी एक से अधिक कटर वाहन चालकों पर नजर रखते है कि कहीं कोई अवैध वसूली की रिकॉडिंग तो नहीं कर रहा। इसके अलावा एक कार वैरियर के दोनों ओर 15 किमी के दायरे में घूमती रहती है। बताया जाता है कि इस कार में भी कटर मौजूद रहते है और उनके द्वारा भी यहीं नजर रखी जाती है कि कहीं कोई अवैध वसूली में व्यवधान तो आने वाला नहीं है।
इनका कहना है-
खरई वैरियर पर अवैध बसूली के आरोपों का मामला सामने आने के बाद जब बैरियर प्रभारी से बात की गई तो वह कोई संतोषजनक जबाव नहीं दे पाये। उन्होंने इतना भर कहा कि मैं अभी गाड़ी चला रहा हूं।
आरपी रावत
खरई आरटीओ वैरियर प्रभारी

No comments