INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

दिमागी बुखार ने दी दस्तक 17 वर्षीय वालक की मौत

न्योरिया क्षेत्र मे दिमागी बुखार ने दी दस्तक 17 वर्षीय वालक की इलाज के दौरान मौत


पीलीभीत(न्यूरिया)गांव पंडरी में चल रहा दिमागी  बुखार के चलते एक होनहार बालक की मौत हो गई है ।जबकि कई बच्चे इसकी चपेट में है ।

दिमागी बुखार और वायरल बुखार न्यूरिया क्षेत्र में तेजी से पनप रहा है।जिसके चलते आदर्श गांव पंडरी के राजेन्द्र कुमार मौर्य का 17 बर्षीय पुत्र अमन कुमार मौर्य दिमागी बुखार से दो सप्ताह से बीमार चल रहा था ।जिसको इलाज के लिये पीलीभीत सिटी हॉस्पिटल और बरेली हॉस्पिटल ले जाया गया ।लेकिन दिमागी बुखार से पीड़ित को सही उपचार नही किया जा सका।उपचार के दौरान अमन कुमार मौर्य की दिमागी बुखार से रविवार शाम 8 बजे मौत हो गई।अमन कुमार मौर्य 

अमन की मौत से पुरे परिवार में कोहराम मच गया पारिवारिक गरीबी के कारण अच्छा इलाज नही करा सके परिवारजन जिसके चलते उसकी मौत हो गई।अमन कुमार की माता राजरानी का रो रो कर बुरा हाल है ।पिता राजेन्द्र कुमार ने बताया कि पांच बच्चों में अमन तीन भाइयो में सबसे छोटा लड़का था।

इधर दिमागी बुखार और वायरल बुखार को लेकर गांव बालो ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पंडरी पर आरोप लगाते हुये बताया कि अस्पताल में दवाई नही रहती है।डॉक्टर लोग कहते है कि जब जिला मुख्यालय से ही हमे दवाई नही मिल पा रही है तो हम कहाँ से दे मरीजो को दवाई।केंद्र पर बुखार खाँसी और फंगल दाद जैसी बीमारियो की दवाई नही मिलती है ।और साथ ही यहाँ पर मरीजो को भर्ती नही किया जाता है।जिससे बीमार लोग ठीक नही होते है और भयंकर बीमारियो का शिकार बन जाते है।जिससे झोलाछाप डॉक्टरों का सहारा लेना पड़ता है।और झोलाछाप डॉक्टर गरीबो का खून खीचने में लगे है।

(संवाददाता पी के गौतम न्यूरिया)



No comments