INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

प्रदर्शन कर रहे डॉक्टरों के समर्थन में आए सीएम केजरीवाल

DELHI : नीट पीजी काउंसलिंग में देरी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे रेजिडेंट डॉक्टर के समर्थन में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी आ गए हैं। उन्होंने पीएम मोदी को डॉक्टरों की मांग मानने के लिए पत्र लिखा है। 

उन्होंने कहा कि केंद्र के डॉक्टर कई दिनों से हड़ताल पर हैं। इन्होंने कोरोना में अपनी जान की बाजी लगाकर सेवा की। कोरोना फिर बढ़ रहा है। इन्हें अस्पताल में होना चाहिए, न कि सड़कों पर। इन पर पुलिस ने जो बर्बरता की है, उसकी हम कड़ी निंदा करते हैं। 

12 दिनों से चल रही है हड़ताल

दरअसल नीट पीजी काउंसलिंग का यह पूरा मामला सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन हैं। कोर्ट की ओर से सुनवाई के लिए आगामी छह जनवरी का दिन तय किया गया है लेकिन काउंसलिंग पहले कराने के लिए डॉक्टर बीते 11 दिन से हड़ताल पर हैं। सफदरजंग, लोकनायक, जीटीबी, जीबी पंत, आरएमएल और लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज जैसे बड़े अस्पतालों में रेजिडेंट डॉक्टर मरीजों का इलाज नहीं कर रहे हैं। यहां ओपीडी से लेकर सभी तरह की स्वास्थ्य सेवाएं पहले से प्रभावित हैं लेकिन एम्स सहित कुछ अस्पतालों में इलाज मिल रहा है जिसकी वजह से मरीजों को थोड़ी बहुत राहत थी लेकिन सोमवार शाम सभी अस्पतालों के रेजिडेंट डॉक्टर विरोध में उतर आए हैं। 

सरकार ने बरसाए फूल, अब दे रही लाठी : डॉक्टर
रेजिडेंट डॉक्टरों का कहना है कि मोदी सरकार ने पिछले साल कोरोना योद्घाओं पर फूल बरसाए थे। उनके लिए थालियां भी बजवाईं, लेकिन अब वही सरकार कोरोना महामारी की जब तीसरी लहर आ रही है तो डॉक्टरों पर लाठी बरसा रही है। सफदरजंग अस्पताल की डॉ. सविता ने बताया कि उनके साथ दिल्ली पुलिस के पुरुष जवानों ने खींचतान की और उन्हें घसीटने का प्रयास भी किया। 

सफदरजंग अस्पताल पहुंचे दिल्ली के डॉक्टर
सोमवार देर शाम जब पुलिस ने डॉक्टरों को हिरासत से मुक्त किया तो डॉक्टर सफदरजंग अस्पताल पहुंचे। इसके बाद राजधानी के अलग अलग अस्पतालों से एकत्रित होकर हजारों की संख्या में रेजिडेंट डॉक्टर पहुंचे हैं। अस्पताल परिसर में देर रात तक विरोध प्रदर्शन जारी रहा। 

रात 11 बजे तक सरोजनी नगर थाने के बाहर धरना देते रहे हजारों डॉक्टर
सोमवार देर रात 11 बजे तक सरोजनरी नगर थाने के बाहर रेजिडेंट डॉक्टर धरना देते रहे। आईटीओ स्थित शहीद पार्क पर विरोध प्रदर्शन के दौरान दिल्ली पुलिस की कार्रवाई से नाराज रेजिडेंट डॉक्टर रात साढ़े आठ बजे सफदरजंग अस्पताल से केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया के आवास की ओर रवाना हुए लेकिन रिंग रोड पर पहुंचने के बाद ही दिल्ली पुलिस ने सभी को रोक दिया।

INA NEWS DESK

No comments

Welome INA NEWS, Whattsup : 9012206374