INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

पोहरी - शहीद बिरसा मुण्डा की जयंती जनजाति गौरव दिवस के रूप में मनाई गई।


                            शहीद बिरसा मुण्डा की जयंती जनजाति गौरव दिवस के रूप में मनाई गई
शिवपुरी,  पूरे प्रदेश के साथ ही शिवपुरी जिले में भी शहीद बिरसा मुण्डा की जयन्ती ’जनजाति गौरव दिवस’ के रूप में मनाई गई। पोहरी के ग्राम मड़खेड़ा में 15 नवंबर को कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में शहीद बिरसा मुण्डा की प्रतिमा पर पुष्पमाला अर्पित कर उनकी शौर्यगाथा से जनमानस को अवगत कराया गया। इस मौके पर जनजातीय स्वाधीनता संग्राम सेनानियों के सम्मान में वक्ताओं ने अपने विचार रखें।
कार्यक्रम में मुख्य आतिथि के रूप में विधायक श्री सुरेश राठखेड़ा उपस्थित रहे। इस दौरान कलेक्टर श्री अक्षय कुमार सिंह, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एच.पी.वर्मा, अनुसूचित जाति के जिला अध्यक्ष श्री महेश आदिवासी, सरपंच मेधा आदिवासी, जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री शैलेन्द्र आदिवासी, आदिम जाति कल्याण विभाग के मण्डल संयोजक श्री सुरेन्द्र कुशवाह, पर्यटन सहकारी संस्था के संचालक अनिल पाटिल, म.प्र.राज्य सहकारी संघ भोपाल के अध्यक्ष श्री अरविंद सिंह तोमर एवं ग्रामीणजन उपस्थित थे।
विधायक श्री सुरेश राठखेड़ा ने अपने उद्बोधन में कहा कि ऐसी आदिवासी महिलाएं जिन्हें खातों में एक हजार रूपए की राशि नहीं प्राप्त हो रही है। उन्हें एक हजार रुपये की राशि प्रदान की जाएगी। उन्होंने कहा कि इन महिलाओं की सूची तैयार कर उन्हें आगामी माह से लाभ दिया जाएगा। समूह में कार्य कर रही आदिवासी महिलाएं जो स्वयं आवश्यक वस्तुओं का निर्माण कर उनका विक्रय करती है। उन महिलाओं के उत्पादों को जिले एवं जिले के बाहर विक्रय कराए जाने की कार्यवाही की जाएगी। जिससे वे आर्थिक रूप से परिपक्व होंगी।
कलेक्टर श्री अक्षय कुमार सिंह ने कहा कि जननायक बिरसा मुंडा का जन्म एक गरीब किसान परिवार में हुआ था। उन्होंने नौजवान नेता के रूप में सभी मुंडाओं को एकत्र कर अंग्रेजो से लगान (कर) माफी के लिये आन्दोलन किया था। हमें उनके विचारों और कर्तव्य निष्ठा से प्रेरणा लेकर देश एवं राज्य के लिए बेहतर कार्य करने चाहिए। उन्होंने कहा कि ऐसी आदिवासी महिलायें जिनके खातों में एक हजार रूपए की राशि नहीं आई है, वे अपनी शिकायत दर्ज कराए। जिससे उनके खातें में एक हजार रूपए की राशि पहुंचाई जाने की कार्यवाही की जा सके।

कोई टिप्पणी नहीं