INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

दलबदलू कैलाश कुशवाह का घटा जनाधार पहुंच सकते हैं चौथे स्थान


पोहरी-कैलाश कुशवाहा बसपा प्रत्याशी विधानसभा पोहरी के जनसंपर्क में ढील नजर आ रही है उनके कार्यकर्ताओं द्वारा विचार में कमी करने से कैलाश कुशवाहा  चार नंबर पर आ गए हैं जिससे  इनकी  हार  साफ  दिखाई  पड़ती  नजर  आ  रही  हेँ  वहीं  दूसरी  ओर जनता पार्टी के विधायक 10 साल से विधानसभा मैं पेर जमाए हुए हैं उनको पुनः  टिकट प्रदान किया गया और उनकी कार्यशैली उनके व्यवहार ने उन्हें पूरे मतदाताओं के करीब ला दिया है पर  उनकी  जीत  भी  निच्चित  नही  मानी  जा सकती  इसी तरह से कांग्रेस के प्रत्याशी सुरेश राठखेड़ा भी इतने मजबूत प्रत्याशी साबित नही हुए हैं उन्होंने दो बार पूरी विधानसभा के मतदाताओं से संपर्क किया उनका आशीर्वाद लिया है निश्चित तौर पर उनकी भी  सहभागिता दिखाई देती है और वह इस  चुनावी संग्राम मे  है द्वितीय स्थान पर हेँ  हमारे सर्वे के रूप में दिखाई दे रहे हैं इसके उपरांत आते हैं आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी नरेंद्र व्यास जिन्होंने अपने कार्य से अपने अपने संघर्ष से और गांव गांव में जनसंपर्क कर के उन्होंने भी एक बहुत ही अच्छा स्थान बनाया जो तृतीय स्थान पर है पहले वह चौथे स्थान पर थे उनके ब्राह्मण मतदाताओं के माध्यम से उनके संपर्क से वह आज दिखाई देते हैं वह स्थान  है तृतीय के  रूप में अगर देखा जाए तो नरेंद्र व्यास ने अपना स्थान बनाया निश्चित तौर पर भाजपा से दलबदल बसपा प्रत्याशी कैलाश कुशवाहा चतुर्थ स्थान पर दिखाई दे रहे हैं उनके कार्यकर्ताओं द्वारा जो कार्य किया जा रहा है  तो सर्वे के अनुसार नरेंद्र व्यास आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी और उसके उपरांत बहुजन समाज पार्टी के प्रत्याशी कैलाश दिखाई देते हैं गुमराह किया जा रहा है कि वह हाथी के चुनाव से एक बार विधानसभा पहुंच सकते हैं मगर वे बताते हैं कि उनका स्थान चतुर्थ  श्रेणी में है अभी भी 2 दिन है अगर काम करना चाहे तो पहले  स्थान पर पहुंचने के आसार खो चुके है कैलाश कुशवाहा भारी समझदार हैं और बसपा के चुनाव चिन्हों को देखा जाए तो पूरी विधानसभा में 30 प्रतिशत से ज्यादा दलित हैं उनका समर्थन मिलता है तो विधानसभा का रास्ता मिल सकता है लेकिन उनको दलित वोटों के लिए कांग्रेस के प्रत्याशी हैं सुरेश राठखेड़ा निश्चित तौर पर वोटों के लिए जाने जाते हैं उनके साथ भी समर्थन है लेकिन इधर देखा जाए पूर्व विधायक होने के कारण उनकी भी समझ बढ़ रही है और वह भी एक बहुत अच्छी स्थिति में दिखाई देते हैं वे बताते हैं कि कैलाश कुशवाहा की स्थिति बहुत नाजुक है स्थिति में हैं इन्ही  सब  बातों  को  लेकर  यहा इस्पस्ट दिखाई  पड़ता  हेँ  कुशवाह  जीत  से  बहुत  दूर  हेँ   आम जनता से विचारों के आधार पर हाँ ? 

कोई टिप्पणी नहीं