INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

फीफा विश्व कप 2018: बेल्जियम को उलटफेर का शिकार बनाकर इतिहास रचना चाहेगा जापान

DESK - विश्व कप में एकमात्र एशियाई उम्मीद जापान सोमवार को जब नॉकआउट के मुकाबले में खिताब के दावेदारों में शुमार बेल्जियम के खिलाफ मैदान में उतरेगा तो उसका लक्ष्य एक नई कहानी लिखने का होगा। जापानी टीम बड़े उलटफेर के साथ पहली बार क्वार्टर फाइनल में जगह बनाकर नया इतिहास रचना चाहेगी। 
1998 में पहली बार विश्व कप में खेलने वाली जापानी टीम 20 वर्ष में कभी अंतिम-16 से आगे नहीं बढ़ी है। इस बार टीम इस बाधा को पार करने को बेताब है। हालांकि उसके लिए यह सब इतना आसान नहीं है। बेल्जियम की टीम अभी तक छुपी रुस्तम साबित हुई है। ग्रुप चरण में उसने तीनों मैच जीतकर अपने ग्रुप जी में शीर्ष पर रहते हुए अंतिम 16 में प्रवेश किया है। 

सबसे खास बात यह है कि उसने अपने तीन मैचों में सर्वाधिक नौ गोल किए और मात्र दो गोल खाए। हालांकि जापान ने भी शानदार प्रदर्शन किया है। उसने एक मैच जीता, एक ड्रॉ और एक हारा है। टीम ग्रुप एच में दूसरे स्थान पर रहते हुए तीसरी बार अंतिम16 में पहुंची है।   

आंकड़े जापान के साथ

बेल्जियम भले ही फॉर्म में है और खिताब की दावेदार है पर आंकड़े एशियाई टीम जापान के साथ हैं। दोनों के बीच अब तक खेले गए पांच मैचों में से जापान ने दो जीते हैं और दो हारे हैं। बेल्जियम की टीम ने एकमात्र मुकाबला पिछले साल नवंबर में जीता था जिसमें रोमेलू लुकाकु के एकमात्र गोल से उसने जापान को पराजित किया था। 

लुकाकु पर बेल्जियम का दारोमदार 

बेल्जियम की निगाह एक बार फिर स्टार फॉरवर्ड रोमेलू लुकाकु पर होगी। यह 25 वर्षीय खिलाड़ी दो मैचों में चार गोल दाग चुका है और टॉप स्कोरर में दूसरे नंबर पर है। सोमवार को एक गोल दागने के साथ ही वह इंग्लैंड के हैरी केन (05) की बराबरी कर लेंगे तो दो गोल से इस टूर्नामेंट के टॉप स्कोर बन जाएंगे। बेल्जियम के लिए वह 71 मैचों में रिकॉर्ड 40 गोल कर चुके हैं। 

जापान की निगाह केसुक होंडा पर 

जापान की सारी उम्मीदें मिल्फीडर केसुक होंडा पर है। यह 32 वर्षीय मिल्डफील्डर शानदार फॉर्म में चल रहा है। हालांकि उन्हें इतने मौके नहीं मिले हैं सिर्फ दो मैचों में 38 मिनट ही वह मैदान पर उतरे हैं और एक गोल करने के अलावा एक गोल में मदद की है। इस मैच में उन्हें पूरा मौका मिलने की उम्मीद है। उन्होेंने जापान के लिए 97 मैचों में 37 गोल किए हैं। 

कोई टिप्पणी नहीं