INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

प्रबंधकों द्वारा की गयी दो बार नियुक्ति का खामियाजा भुगत रहा पीड़ित

जालौन

० न्याय पाने के लिए दर दर भटक रहा फरियादी । उच्चाधिकारियों को भेजे पत्र

उरई (जालौन) अलग-अलग तिथियों में प्रबंधकों द्वारा प्रधानाचार्य के पद पर दो बार नियुक्ति किये जाने का शिकायती पत्र जिलाधिकारी एवं उच्चाधिकारियों को भेज कर न्याय की गुहार पीड़ित पक्ष ने लगाई है।
शहर के मुहल्ला शांतिनगर विद्या मंदिर के पास उरई निवासी चर्तुभुज मिश्रा पुत्र रामस्वरूप मिश्रा ने जिलाधिकारी से लेकर उच्चाधिकारियों को भेजे अपने शिकायती पत्र में लिखा है कि श्रीकृष्ण संस्कृति उ. म. विद्यालय गुरू का इटौरा जनपद जालौन में बालमुकुंद शुक्ल की नियुक्ति प्रधानाचार्य के पद पर देवीशरण गौतम द्वारा वर्ष 2007-8 व 2011 व 14 में अलग-अलग दर्शायी गयी तथा शासन से विगत 4 वर्षो से लाखों रुपयों का वेतन लिया जा रहा है। जिसके विरुद्ध कार्यवाही की मांग की। उन्होंने ने पत्र में लिखा है कि पूव में शासन को अनुदान पत्रावली प्रेषित की गयी तब स्थाई नियुक्ति 01 जनवरी 1994 में प्रबंधक देवीशरण गौतम द्वारा भेजी गयी तथा ग्रान्ड पर जब विद्यालय आया तब वर्तमान प्रबंधक अवनीश चन्द्र द्विवेदी द्वारा स्थाई नियुक्ति 25-12-93 दर्शाया गया है तथा दोनों को स्थाई दिखाया गया है। उनका आरोप है कि धन के प्रलोभन के प्रभाव में तत्कालीन जिला विद्यालय निरीक्षक जालौन ने दोनों ही पत्रों को सत्यापित किया है और वेतन निकालने हेतु उच्च अधिकारियों को अग्रसारित किये है। यह बात समझ से दूर है कि 1993 बाद में आ रहा है और 1994 की सूचियों का अवलोकन करे। जिसमें गोलमाल की स्थिति है अतः दोनों ही पत्र फर्जी मनमर्जी से बनाकर  भेजे गये है तथा धन प्राप्ति के दबाव में  नियम को ताक पर रखकर कोई ध्यान नहीं रखा गया है और न ही न्याय संगत है। पीड़ित चर्तुभुज मिश्रा ने जिलाधिकारी व अन्य अधिकारियों को भेजे कर मांग की है कि जिले के शिक्षा अधिकारी से जांच न करवा कर मण्डल के बाहर के किसी अधिकारी से जांच करवाई जाये जिससे न्याय मिल सके।

सुरेन्द्र राजावत जिला ब्यूरो

No comments