INA NEWS

ads header

ताज़ा खबर

यूपी ​स्कॉलरशिप की वेबसाइट छात्र-छात्राओ को दे रही धोखा

लखनऊ- देश के भविष्य को उज्ज्वल बनाने के लिए शिक्षा का अधिकार लागू किया गया। उच्च कक्षाओं के छात्र-छात्राओं की शिक्षा ग्रहण कराने के लिए सरकार द्वारा छात्रवृत्ति के रूप में अनुदान दिया जाता है। जिसके सहारे छात्र-छात्राएं अपनी शिक्षा पूरी कर पाते हैं।

सरकार द्वारा छात्रवृत्ति के रूप में अनुदान लेने के लिए छात्रवृत्ति के फार्म ऑनलाइन कराने के लिए साइबर कैफे पर छात्र-छात्राओं की भीड़ लगी रहती है। साइट न चलने के कारण फार्म ऑनलाइन नहीं हो पा रहे हैं। विगत कई दिनों से साइबर कैफे संचालक रात-रात भर जागकर साइट चलने का इंतजार करते हैं। जब रात को साइड चलती है तब जाकर फॉर्म ऑनलाइन करते है। वहीं अंतिम तिथि भी नजदीक आ गयी है। और साइट लगातार धोखा दे रही है। साइट कब चलेगी इसकी सही जानकारी न मिल पाने के कारण छात्र-छात्राओं के साथ ही उनके अभिभावक भी परेशान हैं।

जिला सीतापुर के तहसील छेत्र सिधौली में भी सभी साइबर कैफे पर छात्र-छात्राओ की भीड़ लगी रहती है। लेकिन साइट न चलने के कारण सभी को मायूस ही लौटना पड़ता है। वहीं डाक बंगला के निकट साइबर कैफे संचालक रिज़वान अहमद का कहना है कि फार्म भरने की समय सीमा समाप्त होने वाली है। साईट कभी-कभी खुल जाती है और कुछ देर काम करने के बाद बंद हो जाती है। जिसके चलते ऑनलाइन आवेदन नहीं हो पा रहे हैं। कभी-कभी तो रात में जगकर फॉर्म भरना पड़ता है। स्कॉलर की साइट शुरूआत में तो सही चल रही थी। लेकिन कुछ ही दिन बाद साईट खुलने में दिक्क़त आने लगी। वर्तमान समय में भी साईट काम नहीं कर रही है। इसकी वजह से छात्र-छात्राएं दुकान पर आकर परेशान हो रहे हैं।

ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि क्या ऑनलाइन आवेदन की समय सीमा बढेगी या छात्र-छात्राएं इस बार छात्रवृत्ति से वंचित रह जायेंगे? 

रिपोर्ट- मो0 रिज़वान, ब्यूरोचीफ यूपी

No comments