देश राजनीति

नव वर्ष पर दिल्ली सरकार इन चीजों को करेगी गैरकानूनी

नई दिल्ली –  राजधानी के निजी अस्पतालों की मनमानी और लूट से मरीजों को अब राहत मिलने वाली है। दिल्ली सरकार नए साल में प्राइवेट अस्पतालों में सख्त नियम लागू करने जा रही है। जिसके तहत हर अस्पताल में इलाज के अलग अलग दाम लेना (फीस वसूलना) गैर कानूनी होगा। इतना ही नहीं, ओपीडी में मरीज की फीस भी सरकार तय करने वाली है। ताकि निजी सेवाओं की आड़ में कोई भी प्राइवेट अस्पताल मनमानी कीमतों न वसूले।

सूत्रों के मुताबिक, अगले चार दिन के भीतर दिल्ली सरकार ने बनाई 9 सदस्यीय कमेटी एक रिपोर्ट मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन को सौंपने वाली है। इस रिपोर्ट में अस्पताल और मरीज दोनों ही पक्षों के कुछ सुझाव शामिल किए गए हैं। बीते दिनों हुई कमेटी की बैठक में नए नियमों पर सहमति भी बन गई है।

बताया जा रहा है कि अगले दो दिन के भीतर अंतिम बैठक होने के बाद रिपोर्ट सरकार तक पहुंच जाएगी। जिसके बाद दिल्ली सरकार जनवरी के मध्य तक गाइडलाइन जारी कर देगी। बता दें कि 13 दिसंबर को स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा था कि सरकार को निजी अस्पतालों के अतिरिक्त बिल, महंगी दवाओं और इलाज के अलावा लापरवाही की शिकायतें मिल रही हैं।

जैन ने ये भी कहा कि मरीजों पर अस्पताल से दवाएं खरीदने का दबाव बनाया जाता है, जिसमें लाभ मार्जिन कई गुणा होता है। इसलिए 9 सदस्यीय एक कमेटी बनाई गई है। इस कमेटी को 31 दिसंबर तक रिपोर्ट सौंपने का वक्त दिया गया था।

 

रिपोर्ट – अदिति शर्मा, संवाददाता – नई दिल्ली 

About the author

INA NEWS

"भारत एक लोकतांत्रिक देश है। जिसमें हर व्यक्ति को अपने विचारों और सुझावों को रखने का पूर्ण मौलिक अधिकार है लोकतंत्र के चार स्तंभों में से एक स्तंभ पत्रकारिता का भी है, जिसका स्वर्णिम इतिहास रहा है और देश के सामाजिक व आर्थिक विकास एवम् प्रभाव के लिए पत्रकारिता की अहम भूमिका रही है।" - - उदय सिंह यादव, एडिटर-इन-चीफ, INA NEWS, INA NEWS TV, INA NEWS AGENCY

Add Comment

Click here to post a comment