#
देश

जम्मू कश्मीर में लश्कर के चार आतंकी ढेर, पैरा कमांडो शहीद

#

श्रीनगर –  सेना ने उत्तरी कश्मीर में सक्रिय आतंकियों के खिलाफ अभियान जारी रखते हुए मंगलवार को कुपवाड़ा जिले (जम्मू कश्मीर) में दो भीषण मुठभेड़ में लश्कर के चार आतंकियों को मार गिराया। पहली मुठभेड़ हंदवाड़ा के मागम इलाके में हुई, जिसमें तीन पाकिस्तानी दहशतगर्द मारे गए। मुठभेड़स्थल से भारी मात्रा में हथियार व गोला-बारूद मिला है। दूसरी मुठभेड़ जुरहामा जंगल में हुई। यहां एक आतंकी की मौत और एक पैरा कमांडो शहीद हो गया। तीन अन्य जवानों के घायल होने की सूचना है। देर शाम तक मारे गए आतंकी का शव बरामद नहीं हुआ था और मुठभेड़ जारी थी।

मंगलवार तड़के सुरक्षाबलों को पता चला कि कुछ आतंकी मागम के खार मोहल्ले में देखे गए हैं। उसी समय सेना ने पुलिस और सीआरपीएफ के जवानों के साथ मिलकर गांव की घेराबंदी कर ली। सुबह पांच बजे भागने के सभी रास्ते सील करते हुए स्थानीय सरपंच को बुलाकर उसे एक मकान में भेजा गया। उसने भी माना कि उक्त मकान में कुछ गड़बड़ है। सेना की आठ सेक्टर के कमांडर मोहित त्रिवेदी ने बताया कि आतंकी ठिकाना बने मकान को चारों तरफ से घेरने के बाद वहां मौजूद आतंकियों व स्थानीय नागरिकों को बाहर आने के लिए कहा गया। इस पर मकान मालिक व उसके परिजन बाहर आए, लेकिन आतंकियों ने फायर कर दिया।

जवानों ने जवाबी फायर करते हुए आतंकियों को आत्मसमर्पण के लिए कहा, लेकिन वे गोलियां चलाते रहे। सुबह साढ़े आठ बजे शुरू हुई मुठभेड़ करीब पौने घंटे तक चली और मकान में छिपे तीनों आतंकियों के मारे जाने के साथ समाप्त हो गई। सूत्रों ने बताया कि मुठभेड़ के दौरान आतंकी ठिकाना बने मकान में दो जबरदस्त धमाकों के साथ आग लग गई थी। आग में तीनों आतंकियों के शव भी जल गए।

बाद में मकान के मलबे से सुरक्षाबलों ने तीनों आतंकियों के जले शव बरामद कर लिए। वहां से तीन एसाल्ट राइफलें, एक यूबीजीएल (अंडरबैरल ग्रेनेड लांचर), एक ग्रेनेड थ्रोअर, नौ मैगजीन, वायर व कुछ अन्य सामान मिला है। सेक्टर कमांडर मोहित त्रिवेदी ने बताया कि मारे गए तीनों आतंकी पाकिस्तानी थे। ये कुछ समय पहले ही कश्मीर आए थे और इनकी गतिविधियों की लगातार निगरानी की जा रही थी। सूत्रों की मानें तो इन आतंकियों ने करीब एक सप्ताह पहले ही गुलाम कश्मीर की तरफ से कश्मीर में घुसपैठ की थी।

#

About the author

INA NEWS

भारत एक लोकतांत्रिक देश है। जिसमें हर व्यक्ति को अपने विचारों और सुझावों को रखने का पूर्ण मौलिक अधिकार है लोकतंत्र के चार स्तंभों में से एक स्तंभ पत्रकारिता का भी है, जिसका स्वर्णिम इतिहास रहा है और देश के सामाजिक व आर्थिक विकास एवम् प्रभाव के लिए पत्रकारिता की अहम भूमिका रही है। - - उदय सिंह यादव, एडिटर-इन-चीफ, INA NEWS, INA NEWS AGENCY, INA TV, INA LIVE,

Add Comment

Click here to post a comment